PMC Bank घोटाले के पीड़ित खाताधारक की दिल का दौरा पड़ने से मौत, बैंक में फंसे हैं 90 लाख रुपये

दूसरी ओर भारतीय रिजर्व बैंक ने घोटाले में घिरे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक के बचत खाताधारकों के लिए छह माह में निकासी की सीमा 25,000 रुपये से बढ़ाकर 40,000 रुपये कर दी.

खास बातें

  • PMCबैंक घोटाले के पीड़ित खाताधारक संजय गुलाटी की दिल का दौरा पड़ने से मौत
  • बैंक में फंसे हैं 90 लाख रुपये
  • संजय की पहले जेट एयरवेज से नौकरी चली गई थी
मुंबई:

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक घोटाले के पीड़ित खाताधारकों में से एक संजय गुलाटी की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. संजय के परिवार के 90 लाख रुपये पीएमसी बैंक (PMC Bank) में फंसे हैं. संजय की पहले जेट एयरवेज से नौकरी चली गई थी, और अब सभी जमा पूंजी फंस गई थी. जिसका सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाए. सोमवार को संजय किल्ला कोर्ट के सामने प्रदर्शन में भी शामिल थे. लेकिन दोपहर को जब वह घर आए तो उन्हें दिल का दौरा पड़ गया. 

वहीं, दूसरी ओर भारतीय रिजर्व बैंक ने घोटाले में घिरे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक के बचत खाताधारकों के लिए छह माह में निकासी की सीमा 25,000 रुपये से बढ़ाकर 40,000 रुपये कर दी. यह तीसरी बार है जबकि रिजर्व बैंक ने पीएमसी के ग्राहकों के लिए प्रति खाता निकासी की सीमा बढ़ाई है. केंद्रीय बैंक ने 23 सितंबर को पीएमसी बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगाई थी. उसी समय प्रति ग्राहक छह माह में केवल 1,000 रुपये निकासी की सीमा तय की गई थी. केंद्रीय बैंक के इस फैसले की काफी आलोचना हुई थी. 

संकट में फंसे पीएमसी बैंक के हर खाताधारक के हित का ख्याल रखेगा आरबीआई : निर्मला सीतारमण

केंद्रीय बैंक ने बयान में कहा कि बैंक की नकदी की स्थिति की समीक्षा के बाद इस सीमा को और बढ़ाकर 40,000 रुपये किया जा रहा है. रिजर्व बैंक ने कहा कि इस कदम के बाद पीएमसी बैंक के करीब 77 प्रतिशत जमाकर्ता अपने खाते से समूची जमा राशि निकाल सकेंगे.

वाली से पहले PMC Bank के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, 25,000 की जगह अब निकाल सकेंगे 40 हजार रुपये

वहीं, इसके अलावा मुंबई की एक अदालत ने पीएमसी बैंक घोटाले मामले में सोमवार को हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक राकेश वाधवन तथा उनके बेटे सारंग और बैंक के पूर्व चेयरमैन वरयाम सिंह की पुलिस हिरासत 16 अक्टूबर तक बढ़ा दी. सैकड़ों की संख्या में जमाकर्ता इस मामले को 'सफेदपोश अपराध' ठहराते हुए अदालत के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. वे आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और अपना पैसे जल्द से जल्द वापस दिलाये जाने की मांग कर रहे हैं. पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों को सोमवार को महानगर मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

PMC बैंक के ग्राहक गुजारे के लिए गहने गिरवी रखने को मजबूर, दिन-रात करेंगे प्रदर्शन

VIDEO: महासंग्राम: महाराष्ट्र चुनाव पर होगा PMC बैंक घोटाले का असर?