BJP में शामिल होने की अफवाह पर प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा बोलीं- राजनीति छोड़ दूंगी, मगर...

अफवाह इतनी ज्यादा फैल गई कि खुद शर्मिष्ठा को ट्वीट कर इन अफवाहों को खारिज करना पड़ा.

BJP में शामिल होने की अफवाह पर प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा बोलीं- राजनीति छोड़ दूंगी, मगर...

शर्मिष्ठा मुखर्जी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पिता को दी नसीहत.
  • शर्मिष्ठा ने बीजेपी में शामिल होने के अफवाह को किया खारिज.
  • उन्होंने कहा कि मैं राजनीति छोड़ दूंगी मगर बीजेपी में शामिल नहीं होऊंगी.
नई दिल्ली:

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने पर घमासान जारी है. खुद प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी अपनी नाराजगी जाहिर की और कहा कि आपके भाषण भुला दिये जाएंगे, मगर तस्वीरें हमेशा के लिए रह जाएंगी. इतना ही नहीं, बुधवार को शर्मिष्ठा मुखर्जी के बीजेपी में शामिल होने के शिगुफे भी खूब छाए रहे. अफवाह इतनी ज्यादा फैल गई कि खुद शर्मिष्ठा को ट्वीट कर इन अफवाहों को खारिज करना पड़ा. बता दें कि आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आरएसएस के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. 

बेटी शर्मिष्ठा की नाराजगी के बीच RSS मुख्यालय में संबोधित करेंगे प्रणब मुखर्जी, ये है पूरा कार्यक्रम

दरअसल, बुधवार को अचानक शर्मिष्ठा मुखर्जी के बीजेपी में शामिल होने की ख़बर आई. हालांकि तुरंत शर्मिष्ठा ने इसे अफ़वाह बताते हुए सिरे से ख़ारिज कर दिया और  कहा कि ' कांग्रेस छोड़ने से पहले राजनीति छोड़ दूंगी. छुट्टियों के सिलसिले में दिल्ली से बाहर गईं शर्मिष्ठा ने भाजपा में अपने शामिल होने की अफवाहें खारिज करते हुए ट्वीट किया, ‘पहाड़ों में खूबसूरत सूर्यास्त का आनंद ले रही हूं, और अचानक यह खबर आती है कि मैं भाजपा में शामिल हो रही हूं. यह टॉरपिडो से टकराने जैसा है. क्या इस दुनिया में थोड़ी शांति और सद्बुद्धि नहीं हो सकती? मैं राजनीति में इसलिए आई क्योंकि मैं कांग्रेस पर विश्वास करती हूं. कांग्रेस छोड़ने की बजाय मैं राजनीति छोड़ना पसंद करूंगी.’ 

प्रणब मुखर्जी को बेटी शर्मिष्ठा की नसीहत, 'भाषण को भुला दिया जाएगा, तस्वीरें हमेशा याद रहेंगी'

इतना ही नहीं, प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनके पिता नागपुर जाकर ‘भाजपा एवं आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने और अफवाहें फैलाने’ की सुविधा मुहैया करा रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनके ‘भाषण तो भुला दिए जाएंगे, लेकिन तस्वीरें (विजुअल्स) रह जाएंगी.’ उन्होंने कहा, 'यहां तक कि आरएसएस कभी यह कल्पना भी नहीं करेगा कि आप अपने भाषण में उनके विचारों का समर्थन करेगे. लेकिन भाषण को भुला दिया जाएगा और तस्वीरें रह जाएंगी तथा इनको फर्जी बयानों के साथ फैलाया जाएगा.' उन्होंने कहा, 'आप नागपुर जाकर भाजपा/आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने, अफवाहें फैलाने और इनको किसी न किसी तरह विश्वसनीय बनाने की सुविधा मुहैया करा रहे हैं और यह तो सिर्फ शुरुआत भर है.'

प्रणब मुखर्जी का RSS का निमंत्रण स्वीकारना बिल्कुल गलत नहीं : शिंदे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं, दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन ने भी इन बातों को खारिज करते हुए कहा कि शर्मिष्ठा समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं. माकन ने ट्वीट किया, ‘कुछ अफवाहों के जवाब में - शर्मिष्ठा से अभी बात हुई - वह एक समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं और कांग्रेस की विचारधारा में पूरा यकीन करती हैं. उन्होंने मुझे बताया कि वह राजनीति में सिर्फ इसलिए हैं क्योंकि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा में उनका पूरा विश्वास है.’

VIDEO: आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे प्रणब मुखर्जी