NDTV Khabar

पुलवामा आतंकी हमला: यूपी के देवरिया ने भी खोया एक वीर सपूत, शहीद के पिता बोले- विजय को रह गया इस बात का मलाल

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में उत्तर प्रदेश के देवरिया ने भी एक वीर सपूत को खोया है.आतंकी हमले में शहीद होने वाले सीआरपीएफ के करीब 40 जवानों में देवरिया के विजय कुमार मौर्या भी शामिल थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में उत्तर प्रदेश के देवरिया ने भी एक वीर सपूत को खोया है. पुलवामा आतंकी हमले में शहीद होने वाले सीआरपीएफ के करीब 40 जवानों में देवरिया के विजय कुमार मौर्या भी शामिल थे, जो करीब एक दशक से देशसेवा में लगे थे. जब शहीद विजय कुमार की शहादत की खबर उनके परिवार वालों को मिली तो पहले उन्हें इस सूचना पर विश्वास ही नहीं हुआ. उनके परिवार वालों ने सूचना देने वालों से तीन बार इसे दोहराने के लिए कहा. इसके बाद उनके परिवार को ऐसा सदमा लगा जैसे उनकी दुनिया ही उजड़ गई हो. 

अर्ध सैनिक बलों को पूर्ण सैनिक का सम्मान मिले इसके लिए भी लड़ें हम

सीआरपीएफ के शहीद जवान 30 वर्षीय विजय कुमार मौर्य करीब एक दशक से सेवा दे रहे थे. गुरुवार को पुलवामा आतंकी हमले में जब उनकी शहादत की सूचना उनके परिवार वालों को दी गई तो पहले उन्होंने इससे साफ इनकार कर दिया. शहीद विजय के परिवार को फोन कर के इसकी सूचना दी गई थी. 


पुलवामा हमले में पंजाब के 4 जवान शहीद, परिजनों ने कहा- सरकार सबक सिखाए

एनडीटीवी से बातचीत में शहीद विजय के पिता ने कहा कि जब उन्हें फोन पर उन्हें इसकी सूचना दी गई तो उन्हें इस पर विश्वास ही नहीं हुआ. उन्होंने इस सूचना को कम से कम तीन बार दोहराने को कहा. इसके बाद तो उन्हें जैसे सदमा ही लग गया. वह और उनका परिवार पूरी तरह से शोक में डूब गया. 

हम न भूलेंगे और न ही माफ करेंगे, इस जघन्य हमले का बदला लेकर रहेंगे: पुलवामा हमले पर CRPF की कड़ी टिप्पणी

शहीद विजय हाल ही में अपने गांव छुट्टियां बिताने आए थे. करीब दस दिनों की छुट्टी के बाद वह कुछ दिनों पहले ही नौकरी पर दोबारा गए थे. शहीद विजय 2007 में सीआरपीएफ में शामिल हुए थे. उनकी दो साल की बेटी भी है.  विजय के परिवार ने एनडीटीवी से कहा कि शहीद विजय को सबसे ज्यादा इस बात के लिए चिंतित था कि वह अपनी बेटी को बड़ी होते हुए नहीं देख पाया क्योंकि उन्हें देशसेवा के लिए काफी कठिन माहौल में घर से बाहर रहना पड़ता था. 

Pulwama Terror Attack: बडगाम पहुंच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शहीद जवान को दिया कंधा, देखें VIDEO

टिप्पणियां

दरअसल, गुरुवार को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था. इस काफिले में करीब 70 गाड़ियां थीं और 2500 जवान शामिल थे. उसी दौरान सामने से विस्फोटक से लदी एक एसयूवी कार आई और उसने सीआरपीएफ की बस में टक्कर मार दी. आतंकवादी ने जिस कार से टक्कर मारी थी, उसमें करीब 350 किलो विस्फोटक थे. इसकी वजह से विस्फोट इतना घातक हुआ कि इसमें 41 जवान शहीद हो गए. इस घटना पर पीएम मोदी ने सीधे तौर पर कहा है कि आतंकी बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं और अब उन्हें इसका अंजाम भी भूगतना होगा.

VIDEO: पुलवामा हमलाः शहीद जवानों का पार्थिव शरीर लाया गया वडगाम, दी गई श्रद्धांजलि



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement