NDTV Khabar

PM मोदी को राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर दी बहस की चुनौती, BJP ने दिया यह जवाब...

राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री को बहस करने की चुनौती देने को लेकर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष मोदी के साथ बहस करने के लायक नहीं हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PM मोदी को राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर दी बहस की चुनौती, BJP ने दिया यह जवाब...

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी को राफेल सौदे पर बहस की चुनौती दी.

खास बातें

  1. BJP ने कहा, बहस के लायक नहीं हैं राहुल गांधी
  2. भाजपा ने राहुल पर झूठ बोलने का भी आरोप लगाया
  3. राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी पीएम पर हमलावर हैं
नई दिल्ली: राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री को बहस करने की चुनौती देने को लेकर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष मोदी के साथ बहस करने के लायक नहीं हैं. भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वास्तविकता यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष खुद 'कर' संबंधी परेशानी का सामना कर रहे हैं और कर मामले में परेशानी से हताश होकर झूठे झूठे आरोप लगा रहे हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की परेशानी एक कंपनी के आयकर मूल्यांकन के संबंध में है जिसमें उनकी मां सोनिया गांधी और वे खुद बहुलांश हिस्सेदार है. उन्होंने कहा कि कथित कंपनी को 50 लाख रुपये के निवेश पर अधिग्रहित किया गया, जिसकी परिसम्पत्ति 5000 करोड़ रुपये की थी.

​यह भी पढ़ें : मोदी सरकार पर बरसे पूर्व मंत्री अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा, कहा- बोफोर्स से बड़ा है राफेल घोटाला

राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार करते हुए भाजपा ने राहुल गांधी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया और कहा कि सच तो ये है कि कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के समय सौदे की कीमत की तुलना में राजग सरकार की ओर से तय सौदे की कीमत 9 फीसद कम है. रविशंकर प्रसाद ने कहा, 'राहुल गांधी इतने हताश हो गए हैं कि झूठ बोलने की पराकाष्ठा कर रहे हैं.'

​यह भी पढ़ें : क्या नियमों को तोड़कर राफेल डील में बदलाव?

कांग्रेस अध्यक्ष के आरोपों पर तीखा प्रहार करते हुए उन्होंने सवाल किया कि राहुल गांधी अपने झूठे प्रचार के क्रम में देश हित की कितनी अनदेखी करेंगे? उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के साथ बहस करने के लायक नहीं हैं राहुल गांधी.    कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए प्रसाद ने कहा किए कंपनी 23 नवंबर 2010 को बनती है और 12 दिन के भीतर एआईसीसी का 90 करोड़ का ऋण 50 लाख रुपये में हासिल कर लिया गया. कंपनी ने इसका खुलासा नहीं किया.

​यह भी पढ़ें : आ गया आ गया, हिन्दी में राफेल लड़ाकू विमान से जुड़े सवाल-जवाब
rafale jets

केंद्रीय मंत्री ने सवाल किया कि कोई 50 लाख रुपये में 90 करोड़ रुपये का ऋण हासिल कैसे कर सकता है? उन्होंने दावा किया कि 2011-12 में इसकी वार्षिक आय 68 करोड़ रुपये बताई गई, लेकिन पूरा अधिग्रहण 5000 करोड़ रुपये का था. ऐसे में यह राशि 154 करोड़ रुपये होने की बात सामने आई. भाजपा नेता ने कहा कि राहुल गांधी कर के मामले में परेशानी में हैं और अच्छी परेशानी में हैं. लेकिन जब लग रहा है कि कर के मामले में काफी परेशानी में हैं, तब झूठे झूठे आरोप लगा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर राहुल गांधी ये समझते हैं की मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर उनके (राहुल गांधी) खिलाफ चल रही कार्यवाही को कम किया जाएगा तो ऐसा नहीं होगा.

यह भी पढ़ें : राफेल सौदे पर जेपीसी गठित नहीं होने का मतलब पूरी दाल ही काली : कांग्रेस

राफेल सौदे पर राहुल के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि जब राहुल गांधी ने संसद में यह बयान दिया कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने उसने कहा कि गोपनीयता के संबंध में कोई उपबंध नहीं है, तब पहली बार संसद में दिये गए बयान पर फ्रांस की सरकार की ओर से बयान आया. जिसमें उनकी बात को गलत बताया गया. प्रसाद ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ था कि संसद में दिए गए किसी बयान को फ्रांस सरकार ने गलत बताया हो. उन्होंने कहा, 'सच तो ये है कि कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के समय सौदे के लिए जो कीमत थी उसकी तुलना में राजग सरकार की ओर से तय सौदे की कीमत 9 फीसद कम है.'

यह भी पढ़ें : राफेल सौदा घाटोले पर बोले शाह, ‘आप रक्षामंत्री पर भरोसा करेंगे या उनपर, जिन्हें मंत्री पद नहीं मिला’

बता दें कि राफेल विमान सौदे में कथित भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला तेज करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें इस मुद्दे पर बहस की चुनौती दी थी. उन्होंने दावा किया था कि वह इस मुद्दे पर उनके सवालों का जवाब नहीं दे पाएंगे. राहुल ने कहा कि आप जितनी भी लंबी चाहते हैं, एक बहस होने दीजिए. नरेंद्र मोदी एक सेकंड भी उनके सवालों के आगे टिक नहीं पाएंगे, क्योंकि नरेंद्र मोदी ने भारत से चुराया है.

VIDEO : क्या नियमों को तोड़कर राफेल डील में बदलाव?


टिप्पणियां
उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'नरेंद्र मोदी ने अपने दोस्त अनिल अंबानी को अनुबंध हासिल करने में मदद की, जिनकी कंपनी का विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं है. अनुबंध पर हस्ताक्षर किए जाने से 10 दिन पहले यह कंपनी बनाई गई.' हालांकि, अंबानी समूह ने कल इस बात से इनकार किया था कि उसे रक्षा मंत्रालय से कोई अनुबंध मिला है और कहा कि लोगों को गुमराह करने के लिए बेबुनियाद और गलत आरोप लगाए जा रहे हैं.      कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'वह चुप क्यों हैं? वह डर क्यों रहे हैं? वह भाग क्यों रहे हैं? वह मेरी आंखों में आंखें डाल कर मेरे सवालों का जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं?... क्योंकि चौकीदार ही भागीदार है.'

(इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement