NDTV Khabar

राफेल सौदे और विजय माल्या के बारे में अभी और सच सामने आना वाले हैं : राहुल गांधी

राहुल ने कहा कि एचएएल की अमेठी और बेंगलूर में इकाइयां हैं. संप्रग सरकार ने राफेल निर्माण का ठेका एचएएल को दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राफेल सौदे और विजय माल्या के बारे में अभी और सच सामने आना वाले हैं : राहुल गांधी

दो दिन के दौरे पर अमेठी पहुंचे राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाने साधे

नई दिल्ली:

राफेल सौदे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला जारी रखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि 'देश का चौकीदार', राफेल सौदे तथा शराब कारोबारी विजय माल्या के बारे में और तथ्य जल्द सामने आएंगे. गांधी ने कहा, ''ये शुरूआत है. राफेल सौदे में और तथ्य सामने आएंगे. कौन विजय माल्या के पीछे गया और क्यों, कितने धन के साथ, सच्चाई आपके सामने होगी और आप निर्णय लेना.'' राहुल गांधी अमेठी जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक में हिस्सा लेने के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे. कांग्रेस अध्यक्ष गांधी अपने निर्वाचन क्षेत्र के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थे. उन्होंने सौदे को लेकर आरोप बरकरार रखते हुए युवाओं से कहा कि इस सौदे के कारण उनके हितों का नुकसान हुआ है. उन्होंने ने कहा कि अन्य देशों ने भी विमान खरीदे हैं. किसी अन्य देश ने इसे इतनी ऊंची कीमत पर नहीं खरीदा. एचएएल 70 साल से विमान बना रहा है. उसने मिग, सुखोई और जगुआर बनाये. युवाओं को ध्यान देना चाहिए. अनिल अंबानी ने अपने पूरे जीवन में विमान कभी नहीं बनाया. वह सौदे से मात्र दस दिन पहले कंपनी बनाते हैं.

Exclusive: NDTV से बोले रविशंकर प्रसाद, 'बेशर्म' हैं राहुल गांधी, उनका परिवार बिना किसी कमीशन के काम नहीं करता


उन्होंने कहा कि एचएएल की अमेठी और बेंगलूर में इकाइयां हैं. संप्रग सरकार ने राफेल निर्माण का ठेका एचएएल को दिया था. सोच यह थी कि यहां लडाकू विमान बनेंगे तो रोजगार के अवसर पैदा होंगे, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सुनिश्चित होगा और वायुसेना सुदृढ होगी. गांधी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने और 526 करोड रुपए का विमान 1600 करोड़ रुपए में खरीदा जा रहा है. युवाओं को समझना चाहिए कि एचएएल से सौदा छीनकर उनसे रोजगार के अवसर छीने गये हैं. 

राफेल डील : रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को कहा- बेशर्म, सुरजेवाला बोले- मोदी बाबा, चालीस चोर

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि हमने प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री से विमान की कीमत पूछी लेकिन रक्षा मंत्री कहती हैं कि युवाओं को कीमत जानने का अधिकार नहीं है क्योंकि यह एक गोपनीय समझौता है. उन्होंने कहा कि मोदी दावा करते हैं कि वह देश के चौकीदार बनना चाहते हैं लेकिन 30 हजार करोड़ रुपए अंबानी की जेब में डाल देते हैं.

राफेल पर देश को जवाब दे सरकार: शत्रुघ्न सिन्हा

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement