NDTV Khabar

राजनाथ सिंह दे रहे थे भाषण, तभी लगने लगे नारे 'जो मंदिर बनवाएगा, वोट उसी को जाएगा',देखें Video

गृहमंत्री राजनाथ सिंह कार्यक्रम में बोलने के लिए खड़े हुए. तो वहां मौजूद युवाओं ने राममंदिर बनाने को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजनाथ सिंह दे रहे थे भाषण, तभी लगने लगे नारे 'जो मंदिर बनवाएगा, वोट उसी को जाएगा',देखें Video

काफी देर तक होती रही नारेबाजी

खास बातें

  1. लखनऊ में युवा कुम्भ के समापन पर पहुंचे थे राजनाथ सिंह
  2. भाषण शुरू होने से पहले लगने लगे नारे
  3. नारेबाजी से नाराज दिखे राजनाथ सिंह
लखनऊ:

गृहमंत्री राजनाथ सिंह रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे. स्मृति उपवन में चल रहे युवा कुम्भ के समापन कार्यक्रम में बोलने के लिए खड़े हुए. तो वहां मौजूद युवाओं ने राममंदिर बनाने को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी. राजनाथ सिंह के भाषण के दौरान युवा नारे लगाते रहे, जो मंदिर बनवाएगा, वोट उसी को जाएगा. आखिर में कार्यक्रम के संस्थापक को हस्तक्षेप करके युवाओं को शांत कराना पड़ा. नाराज राजनाथ सिंह ने कहा कि वह तभी बोलेंगे जब आप लोग शांत हो जाएंगे. नारेबाजी बंद होने के बाद राजनाथ ने कहा कि भव्य राममन्दिर बनने से दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती है.उन्होंने कहा कि हमारी प्रतिबद्धता पर संदेह नहीं किया जाना चाहिए.

राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रयाग में होने वाले कुम्भ के लिए किसी को अधिसूचना जारी करने की जरूरत नहीं पड़ती कि कुम्भ होने जा रहा है. बिना प्रचार के विश्व में अगर कहीं करोड़ो की संख्या उमड़ पड़ती है तो वो कुम्भ में प्रयागराज में होता है संगम में सिर्फ डुबकी लगाने ही लोग नहीं जाते.


योगी आदित्यनाथ बोले- राम मंदिर का निर्माण 'हम' ही करेंगे, दूसरा कोई नहीं कर पाएगा

गृहमंत्री ने कहा कि केवल धन, सैन्य शक्ति के आधार पर विश्व गुरु के पद पर आसीन नहीं हो सकता है. ज्ञान और विज्ञान के क्षेत्र में भी आगे बढ़ाने की ताकत हमारे युवाओं में है. कई जगह जिसके पास अधिक भूभाग और धन हो उसे महान माना जाता है. प्राचीन भारत में अबतक राजा रामचंद्र और राजा हरिश्चंद्र को हम महान मानते हैं ऐसा क्यों?

राजनाथ ने कहा कि मयार्दा पुरुषोत्तम राम ने समाज में अपने प्राणों से प्यारी सीता माता को भी अपने से अलग किया था राजा हरिश्चंद्र ने त्याग समर्पण किया.जो ज्ञान विज्ञान भारत के पास था और है वो कहीं देखने को नहीं मिलेगा. इलाहाबाद के एक क्रांतिकारी ने जब एक गोली उनके पास बची तो चन्द्रशेखर आजाद ने अपनी रिवॉल्वर की गोली अपने सीने में दागने का काम किया तब जाकर हमारा देश आजाद हुआ. 

अमित शाह और योगी आदित्यनाथ संतों के साथ आज राम मंदिर मुद्दे पर करेंगे चर्चा

उन्होंने कहा कि जिस दिन हमारा समर्पण टूट जाएगा उस दिन विश्व गुरु बनने का हमारा सपना टूट जाएगा. तकनीक के मामले में सर्वाधिक अनुसंधान आपके जैसे नौजवानों ने किया है. पं दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानवदर्शन को कैसे लागू किया जा सकता है इसको विचार करें इस युवा कुम्भ में. सरकारों का मार्गदर्शन आपकी तरफ से होना चाहिए. कहा कि हमें इस सच्चाई को नहीं भूलना चाहिए कि स्वामी विवेकानंद जी के शिकागो के भाषण की 125वीं वर्षगांठ हम लोगों ने मनाई थी. विवेकानन्द ने कहा था हमारे देश में मनुष्य निर्माण का काम संस्कारों के माध्यम से होता है. भारत को विश्वगुरु बनाने का आह्वान करना है.

बीजेपी से सीट समझौते के बाद नीतीश कुमार बोले- 2019 का चुनाव विकास पर होगा, राम मंदिर पर नहीं

उन्होंने कहा कि बिना एक भी अपने सिपाही को भेजे भारत ने चीन पर अपना सांस्कृतिक प्रभाव रखा है ये वहां के विद्वान ने लिखा है. विडम्बना है कि लंबे समय तक अंग्रेजों का शासन यहां रहा. लोग ये धारणा लिए हैं कि ज्ञान और विज्ञान वहीं से आया है. पाइथागोरस थ्योरम भारतीय ग्रंथों में देखने को मिलेगा. गृह मंत्री ने कहा कि 2009 में अमेरिका ने ये बताया कि कितने दिनों के बाद सूर्यग्रहण चंद्रग्रहण पड़ेगा. भारत में गांव के पंडित जी के घर चले जाइए और पूछिए कि सौ साल पहले चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण कब पड़ा था और कब पड़ेगा तो वो ये बता देंगे. 

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि हमारा भारत की सर्वाधिक तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है. दुनिया के 10 देशों में 9वें स्थान से 6 स्थान पर पहुंच गया है और 2030 तक रूस अमेरिका और चीन को पीछे छोड़कर टॉप 3 देशों में आकर खड़ा हो जाएगा. 

Video: शिवसेना का तंज, चार राज्य भाजपा मुक्त



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement