NDTV Khabar

अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार का साथ देने वाले शत्रुघ्न सिन्हा इन 5 बड़े 'मसलों' पर कर चुके हैं विरोध

बीजेपी के बागी नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने गुरुवार को एक बयान देकर सबको अचंभित कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार का साथ देने वाले शत्रुघ्न सिन्हा इन 5 बड़े 'मसलों' पर कर चुके हैं विरोध

पीएम मोदी और शत्रुघ्न सिन्हा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: बीजेपी के बागी नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने गुरुवार को एक बयान देकर सबको अचंभित कर दिया. संसद के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव के मसले पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वह सरकार का साथ देंगे और सरकार के पक्ष में वोट करेंगे. यानी अब यह स्पष्ट हो गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुखर विरोधी माने जाने वाले बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा अविश्वास प्रस्ताव पर होने वाली वोटिंग के दौरान विपक्ष का नहीं, बल्कि केंद्र सरकार का साथ देंगे. यह बयान इसलिए भी हैरान करने वाला है क्योंकि अभी तक शत्रुघ्न सिन्हा के जो रुख रहे हैं, उससे लग रहा था कि वह इस बार मोदी सरकार का साथ नहीं देंगे. शत्रुघ्न सिन्हा को बीजेपी का बागी सांसद कहने के पीछे की वजह है कि ऐसे कई मौके आएं हैं, जब उन्होंने मोदी सरकार के खिलाफ मुखर तरीके से अपनी आवाज बुलंद की है. तो चलिए जानते हैं कि आखिर किन-किन मौकों पर शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी सरकार का विरोध किया है...

शत्रुघ्न सिन्हा के वो पांच बयान:

1. सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा - इंदिरा गांधी ने बांग्लादेश बनाया, तब इतने बैनर-पोस्टर नहीं लगे

शत्रुघ्न सिन्हा सर्जिकल स्ट्राइक पर क्रेडिट लेने को लेकर भी मोदी सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद कर चुके हैं. शत्रुघ्न सिंहा ने सर्जिकल स्ट्राइक को सेना के शौर्य का हिस्सा बताया, मगर उन्होंने अपनी पार्टी को इसके राजनीतिक इस्तेमाल के खिलाफ आगाह किया. उनका कहना है कि सर्जिकल स्ट्राइक को इस तरह से प्रचारित करना ख़ुद को सर्टिफिकेट देने जैसा है. एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का इतना प्रचार प्रसार क्यों किया जा रहा है. इस तरह की कार्रवाई तो पहले भी की जाती रही है. सर्जिकल स्ट्राइक तो रणनीति का हिस्सा रहे हैं.  सिन्हा ने कहा कि जब सेना की ओर से बयान जारी कर दिया गया है कि सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो फिर बात वहीं खत्म हो जानी चाहिये. लेकिन इसको लेकर इतनी राजनीति क्यों की जा रही है. बीजेपी सांसद ने अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाते हुये कहा कि 1971 में जब इंदिरा गांधी ने बांग्लादेश बना दिया तब तो इतने पोस्टर बैनर नहीं लगाये गये थे. वाजपेयी जी के जमाने में भी सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी. ये तो राष्ट्रीय हित की बात है. इसके लिये सेना को सलाम.

2. शत्रुघ्न सिन्हा ने तूतीकोरिन की घटना को बताया शर्मनाक, PM पर साधा निशाना

तूतीकोरिन में प्रदर्शनकारियों पर पुलिसिया गोलीबार को लेकर भी शत्रुघ्न सिन्हा ने हमला बोला था. उन्होंने तुतीकोरिन में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी की घटना को 'शर्मनाक, दर्दनाक और निंदा के लायक’ बताया और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वाकपटुता के साथ अपनी बात रखने वाले 'सेवक' इस नृशंस हत्या पर कुछ बोलें. भाजपा सांसद शत्रुघ्न ने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री से अनुरोध किया कि वह तमिलनाडु में प्रदूषण चिंताओं को लेकर वेदांता समूह के स्टरलाइट कॉपर संयंत्र को बंद करने की मांग करने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी में 10 से अधिक लोगों की मौत पर एक बयान दें.

3. कर्नाटक में BJP के सरकार बनाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने खड़े किए सवाल

भाजपा के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी पार्टी पर बहुमत नहीं होने के बावजूद भी कनार्टक में सरकार बनाने के निर्णय पर प्रश्न खड़े किए. उन्होंने कहा कि जुगाड़ और दबाव की राजनीति स्वीकार्य नहीं है. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि हम आग से क्यों खेल रहे हैं? लोकतंत्र के हिमायती अब व्यवस्था का मजाक उड़ा रहे हैं. जो लोग लोकतंत्र के मूल्य पर उपदेश देते नहीं थकते वे राजतंत्र को बर्बाद करने पर तुले हुए हैं. उन्होंने कहा कि जुगाड़ और दबाव की यह राजनीति, जन-शक्ति पर धन-शक्ति न तो स्वीकार्य है और न ही वांछनीय है. शत्रुघ्न ने कहा कि आप किसी भी तरह जीत हासिल करने के लिए हर समय सभी लोगों को मूर्ख नहीं बना सकते हैं. उन्होंने सलाह भी नहीं दी जा सकती है.

4.  शत्रुघ्न सिन्हा ने किया PM पर अब तक का सबसे बड़ा हमला, राहुल गांधी की जमकर तारीफ

बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम दावेदारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान को लेकर आलोचना के लिए पीएम मोदी पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के सवालों का जवाब देने के बजाए पीएम मोदी ध्यान हटाने की राजनीति कर रहे हैं. साथ ही शत्रुघ्न सिन्हा ने राहुल गांधी की तारीफ़ करते हुए कहा कि वे पिछले सालों में परिपक्व हुए है और उन्होंने देश के हित में कई प्रासंगिक सवाल उठाए हैं. दरअसल बीते दो-तीन सालों से पार्टी में अनदेखी की वजह से शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी आलाकमान से नाराज़ हैं और उन्होंने पहले भी यशवंत सिन्हा के सुर में सुर मिलाते हुए पीएम मोदी और अमित शाह पर सवाल उठाए हैं.

टिप्पणियां
5. PM को शत्रुघ्न सिन्हा की एक और नसीहत - प्रधानमंत्री बनने से कोई बुद्धिमान नहीं बन जाता
 
भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषणों में आक्रामक रूख से अप्रसन्नता जताते हुए कुछ मशविरा देने का प्रयास किया. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार गुरुवार को थम गया है. अक्सर पार्टी से अलग रूख अपनाने वाले सिन्हा ने कई ट्वीट किये. उन्होंने ट्वीट में मोदी को टैग किया और कहा कि प्रधानमंत्री बनने से ‘कोई बुद्धिमान नहीं बन जाता.’’ 

VIDEO: पहले भी होते रहे सर्जिकल स्ट्राइक: शत्रुघ्न सिन्हा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement