हामिद अंसारी ने 'मुसलमानों की बेचैनी' पर उठाया सवाल, शिवसेना बोली- पहले इस्तीफा क्यों नहीं दिया

बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि मुसलमानों के लिए पूरी दुनिया में भारत से अच्छा कोई देश नहीं है और न हिंदुओं से बेहतर कोई दोस्त.

हामिद अंसारी ने 'मुसलमानों की बेचैनी' पर उठाया सवाल, शिवसेना बोली- पहले इस्तीफा क्यों नहीं दिया

शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटो)

खास बातें

  • मुसलमानों में असुरक्षा की भावना घर कर रही है : हामिद अंसारी
  • किसी की भारतीयता पर सवाल उठाना परेशान करने वाला
  • बार-बार राष्ट्रवाद साबित करने की जरूरत नहीं
नई दिल्ली:

उप-राष्ट्रपति के पद से विदा हो रहे हामिद अंसारी ने जाते-जाते सरकार पर कई सवाल खड़े कर दिए. राज्यसभा टीवी को दिए एक इंटरव्यू में अंसारी ने कहा कि मुस्लिमों में बेचैनी का अहसास है. उनमें असुरक्षा की भावना घर कर रही है. स्वीकार करने का माहौल ख़तरे में है. भारतीय मूल्य, संस्थाएं कमज़ोर हो रही हैं. किसी की भारतीयता पर सवाल उठाना बेहद परेशान करने वाला है. बार-बार राष्ट्रवाद साबित करने की ज़रूरत नहीं है. मैं एक भारतीय हूं और यही काफ़ी है. इसके बाद बीजेपी और शिवसेना ने प्रतिक्रिया दी है.

पढ़ें: उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का विदाई समारोह- जानें उनके सफर से जुड़ी 5 बातें

पहले इस्तीफा क्यों नहीं दिया : शिवसेना
हामिद अंसारी के बयान पर शिवसेना ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर उन्हें मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना दिखती है तो इस विषय को लेकर उन्होंने पहले ही अपने पद से इस्तीफा क्यों नहीं दे दिया. अब जब वह जा रहे हैं, तब इस तरीके का बयान दे रहे हैं. उनको पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच में जाना चाहिए था. यह मुसलमानों की अंतरआत्मा की आवाज नहीं है. यूपी में मुसलमानों ने बीजेपी को वोट दिया है. इस तरह की बात करके उनके मन में भ्रम न पैदा करें.

मुसलमानों के लिए भारत से अच्छा कोई देश नहीं : बीजेपी
बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि मुसलमानों के लिए पूरी दुनिया में भारत से अच्छा कोई देश नहीं है और न हिंदुओं से बेहतर कोई दोस्त.

VIDEO: हामिद अंसारी की विदाई
उप-राष्ट्रपति के रूप में 80 साल के हामिद अंसारी का दूसरा कार्यकाल बुधवार को पूरा हो रहा है. अंसारी ने कहा कि उन्होंने असहनशीलता का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कैबिनेट सहयोगियों के सामने उठाया है . उन्होंने इसे ‘‘परेशान करने वाला विचार’’ करार दिया कि नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं. देश के उप-राष्ट्रपति होने के नाते संसद के उच्च सदन राज्यसभा के सभापति का पद भी संभाल रहे अंसारी ने कहा, ‘हां..हां . लेकिन उप-राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के बीच क्या बातें हो रही हैं, यह विशेषाधिकार वाली बातचीत के दायरे में ही रहना चाहिए.’ उन्होंने यह भी कहा कि अन्य केंद्रीय मंत्रियों के सामने भी उन्होंने इस मुद्दे को उठाया है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com