कृषि मंत्री ने किसानों से आंदोलन खत्‍म करने की अपील की, 3 दिसंबर को बातचीत का दिया प्रस्‍ताव

इससे पहले कृषि कानून (Farm Laws) के विरोध में दिल्ली कूच करने वाले आंदोलनरत किसानों (Farmers Protest) को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अनुमति दी गई थी.

नई दिल्ली:

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्‍ली मार्च कर रहे किसानों से केंद्रीय कृषि मंत्री (Agriculture Minister) नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra singh Tomar) ने आंदोलन खत्‍म करने की अपील की है. तोमर ने आंदोलनरत किसानों को 3 सिदंबर को बातचीत का प्रस्‍ताव दिया है.गौरतलब है कि इससे पहले कृषि कानून (Farm Laws) के विरोध में दिल्ली कूच करने वाले आंदोलनरत किसानों (Farmers Protest) को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अनुमति दी गई थी.दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ईश सिंघल ने कहा कि किसान नेताओं से बातचीत के बाद दिल्ली पुलिस ने किसानों को बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन की परमिशन दे दी गई है.

दिल्‍ली मार्च: राह की सभी अड़चनों को दूर करने का किसानों का 'साहस' सोशल मीडिया पर हुआ हिट..

इसके साथ ही उन्होंने सभी किसानों से शांति बनाये रखने की अपील की है. परमिशन मिलने के बाद किसान अब बुराड़ी अपने ट्रेक्टर और गाड़ियों से जा रहे हैं. किसानों से कहा गया है कि वे दिल्ली आ सकते हैं. इसके बाद भी किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे जा रहे हैं.  दिल्ली पुलिस की ओर से प्रवेश की इजाजत मिलने के बाद दिल्ली हरिद्वार राजमार्ग खोल दिया गया है. किसानों का चक्काजाम खत्म हो गया है. शनिवार सुबह उत्तर प्रदेश और उत्तरांचल के किसान दिल्ली के लिए रवाना होंगे. आज रात किसान मेरठ में रुकेंगे.

Newsbeep

"कोरोना से डर नहीं लगता, भेदभाव से लगता है" : दिल्ली कूच कर रहे किसान बोले

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को देखते हुए दिल्ली-हरियाणा सीमा पर भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गई थी. किसानों के ट्रैक्‍टर से दिल्‍ली आने के दौरान कई जगहों पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प की भी खबरें आईं. किसानों को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले और पानी की बौछारें की गईं. टैक्टर में खाने-पीने और अन्य जरूरी सामान लेकर चल रहे किसानों ने कई जगहों से दिल्ली में प्रवेश की कोशिश की थी.