NDTV Khabar

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने देश के हालात पर फिर जताई चिंता, कहा- धर्म के नाम पर नफरत की दीवार खड़ी की जा रही है

एमनेस्टी (Amnesty India) ने नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin Shah) के बयानों को लेकर एक वीडियो भी जारी किया है. जिसमें वह कह रहे हैं कि हमारे देश का संविधान हमें बोलने, सोचने, किसी भी धर्म को मानने और इबादत करने की आजादी देता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने देश के हालात पर फिर जताई चिंता, कहा- धर्म के नाम पर नफरत की दीवार खड़ी की जा रही है

देश के हालात पर नसीरुद्दीन शाह ने फिर की टिप्पणी

खास बातें

  1. सिर्फ अमीरों को हो रहा है फायदा- नसीरुद्दीन शाह
  2. धर्म के नाम पर फैला रहे हैं नफरत- शाह
  3. 'कानून व्यवस्था अब पहले जैसी नहीं'
नई दिल्ली:

बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin Shah) ने देश के मौजूद हालात पर एक बार फिर चिंता व्यक्त की है. उन्होंने कहा है कि जिस तरह से धर्म के नाम पर नफरत की दीवार खड़ी की जा रही है, वह किसी के लिए भी अच्छा नहीं है. नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin Shah) ने यह बात एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया (Amnesty India) से कही. एमनेस्टी (Amnesty India) ने नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin Shah) के बयानों को लेकर एक वीडियो भी जारी किया है. जिसमें वह कह रहे हैं कि हमारे देश का संविधान हमें बोलने, सोचने, किसी भी धर्म को मानने और इबादत करने की आजादी देता है. लेकिन, अब देश में मजहब के नाम पर नफरतों की दीवार खड़ी की जा रही है. जो लोग इस अन्याय के खिलाफ आवाज उठाते हैं, उन्हें इसकी सजा दी जाती है.

 


बता दें कि नसीरुद्दीन शाह ने कुछ दिन पहले एक बयान जारी कर कहा था कि जिस तरह से देश में हालात होते जा रहे हैं ऐसे में उन्हें भी यह डर सताने लगा है कि कल कहीं उनके बच्चों को भी कोई हिंदू और मुसलमान बताकर मार न दें. नसीरुद्दीन शाह के इस बयान के बाद जमकर बवाल हुआ था. शुक्रवार को जारी किये गए इस वीडियो में नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि इस देश में कलाकार, अभिनेता, शोधार्थियों, कवियों सभी को दबाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: भाजपा MLA बोले- पाकिस्तान चले जाएं नसीरुद्दीन शाह, टिकट और वीजा मैं करा दूंगा

पत्रकारों को भी चुप कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है और यहां अपना मत रखने का सबको एक समान अधिकार है. एमनेस्टी के 2 मिनट से ज्यादा के इस वीडियो में नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि जिन लोगों ने मानवाधिकारों की मांग की उन्हें जेल में डाला जा रहा है. उन्होंने दावा किया कि धर्म के नाम पर नफरत की दीवार खड़ी की जा रही है. निर्दोषों को बेवजह ही मारा जा रहा है.

यह भी पढ़ें: नसीरुद्दीन शाह के बचाव में आए आशुतोष राणा, कहा- हर किसी को मन की बात कहने का हक है

उन्होंने कहा कि जो कोई भी इस अन्याय के खिलाफ खड़ा होता है उसे चुप कराने के लिए उनके कार्यालयों में छापे मारे जाते हैं, लाइसेंस रद्द किए जाते हैं और बैंक खाते फ्रीज किए जाते हैं ताकि वे सच ना बोलें. नसीरुद्दीन ने कहा कि मौजूदा समय में देश में सिर्फ अमीर और शक्तिशाली लोगों की ही बात सुनी जाती है. आम जनता से जुड़े मुद्दों और समस्या पर कोई भी बात करने को तैयार नहीं है. 

VIDEO: नसीरुद्दीन शाह ने कहा हमें आता है अपने मसले सुलझाना.

 

 

 

टिप्पणियां

 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement