खराब EVM पर कोई भी बटन दबाने से भाजपा को वोट जाने की खबरों पर चुनाव आयोग ने दिया यह बयान 

गोवा चुनाव आयोग (Election Commission Goa) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस तरह की खबरे लोगों को गुमराह करने के लिए प्रचारित की जा रही हैं, जबकि इस तरह की कोई बात नहीं है.

खराब EVM पर कोई भी बटन दबाने से भाजपा को वोट जाने की खबरों पर चुनाव आयोग ने दिया यह बयान 

चुनाव आयोग ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ को लेकर जारी किया बयान

खास बातें

  • ईवीएम को लेकर चुनाव आयोग ने रखी अपनी बात
  • गोवा चुनाव आयोग ने जारी किया अपना बयान
  • बीजेपी को वोट जाने की बात पर हुआ था बवाल
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok sabha Election) के दौरान खराब मशील पर कोई भी बटन दबाने से भाजपा को वोट जाने की खबरों का चुनाव आयोग ने खंडन किया है. गोवा चुनाव आयोग (Election Commission Goa) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस तरह की खबरे लोगों को गुमराह करने के लिए प्रचारित की जा रही हैं, जबकि इस तरह की कोई बात नहीं है. बता दें कि कुछ दिन पहले ऐसी खबरें सामने आई थी कि दक्षिण गोवा लोकसभा सीट पर खराब मिली ईवीएम में कोई भी बटन दबाने पर वोट भाजपा को जा रहा था. गोवा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कुणाल ने शुक्रवार को प्रेस को बयान जारी कर कहा कि ऐसी खबरें झूठी, गुमराह करने वाली और तथ्यात्मक रूप से गलत हैं.

अखिलेश यादव बोले- पूरे देश में EVM या खराब है या फिर बीजेपी के लिए कर रही वोट

कुणाल ने बयान जारी कर बताया कि यह स्पष्ट किया जाता है कि खराब मशीन से छद्म मतदान के दौरान 17 वोट भाजपा उम्मीदवार को जाने का आरोप पूरी तरह झूठा, गुमराह करने वाला और तथ्यात्मक रूप से गलत है. असल में, छद्म मतदान में 17 वोट भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रत्याशी कोस्मो फ्रांसिस्को कैतानो सर्दीन्हा को गए थे. उन्होंने कहा कि ईवीएम और वीवीपैट मशीन को तत्काल बदल दिया गया और आरक्षित रखे गए नए उपकरण से मतदान हुआ. यह मुद्दा दक्षिण गोवा लोकसभा सीट के आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार एल्विस गोम्स ने उठाया था. राज्य की दो सीटों पर 23 अप्रैल को मतदान हुआ था. गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब ईवीएम को लेकर इस तरह के सवाल खड़े हुए हों. इससे पहले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया था कि पूरे भारत में ईवीएम या तो गड़बड़ हैं या फिर भाजपा के पक्ष में वोट डाल रही हैं.

उत्तर प्रदेश: क्या कहती है कन्नौज की सियासी आबोहवा, डिंपल यादव के प्रचार का आंखों देखा हाल

अखिलेश ने चुनाव आयोग को टैग करते हुए ट्वीट किया था कि पूरे भारत में ईवीएम :इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन: या तो खराब हैं या फिर भाजपा के लिए वोट कर रही हैं. उन्होंने कहा था कि जिलाधिकारी कहते हैं कि निर्वाचन अधिकारी ईवीएम परिचालन की दृष्टि से प्रशिक्षित नहीं हैं. साढे़ तीन सौ से अधिक ईवीएम बदली जा रही हैं. सपा प्रमुख ने कहा था कि यह चुनावी प्रक्रिया के लिहाज से आपराधिक लापरवाही है, वह चुनावी प्रक्रिया, जिस पर 50 हजार करोड़ रूपये खर्च हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश में दस सीटों के लिए तीसरे चरण के तहत आज मतदान हो रहा है.

वाराणसी : बीएसपी सुप्रीमो मायावती की वजह से सारा प्लान हो गया फेल

उधर आम आदमी पार्टी ने गोवा में मॉक पोल के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया था. कहा था कि मॉक पोल के दौरान पता चला कि वोट बीजेपी को ट्रांसफर हो रहे हैं. इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री और पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर पूछा था कि ईवीएम सच में खराब है या फिर मशीन में ऐसे प्रोग्राम सेट किए गए हैं. इन आरोपों के बीज गोवा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जांच किए जाने की बात कही थी.

पश्चिम बंगाल : ईवीएम की निगरानी करने वाला नोडल अफसर लापता, चुनाव आयोग ने तलब की रिपोर्ट

दरअसल, गोवा में आम आदमी पार्टी के संयोजक  इल्विस गोम्स ने मंगलवार को ट्वीट कर मॉक पोलिंग पर सवाल खड़े किए थे. उन्होंने ट्वीट कर इसे शर्म का चुनाव कहते हुए आरोप लगाया कि मॉक पोलिंग के दौरान सबसे ज्यादा 17 वोट बीजेपी को, कांग्रेस को नौ और आम आदमी पार्टी को आठ वोट मिले थे. उन्होंने अपने ट्वीट में इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया के प्रवक्ता, गोवा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और आम आदमी पार्टी को टैग किया. उनके ट्वीट पर गोवा के निर्वाचन अधिकारी के ट्विटर हैंडल से जवाब दिया गया- हम मामले की जांच कर रहे थे. अपडेट्स जारी किए जाएंगे. इस ट्वीट पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि गोवा में 'दोषपूर्ण' ईवीएम भी अन्य वोटों को बीजेपी में स्थानांतरित करती है. क्या ये वास्तव में दोषपूर्ण हैं या इस तरह से प्रोग्राम किए गए हैं.?

यह भी पढ़ें- इस राज्य के मुख्यमंत्री ने 4583 ईवीएम में गड़बड़ी मिलने पर उठाए सवाल, कहा- चुनाव में पैदा हुआ बड़ा संकट

चंद्रबाबू नायडू खराब ईवीएम का उठा चुके हैं मुद्दा
तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू  भी खराब ईवीएम का मुद्दा उठा चुके हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय चुनाव आयोग चुनाव प्रक्रिया को "बड़ा मजाक" बना रहा है.नायडू ने राज्य में 175 विधानसभा और 25 लोकसभा सीटों के लिए मतदान पूरा होने के अगले दिन शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके चुनाव प्रक्रिया को अंजाम देने के तरीके पर सवाल उठाए. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में 30-40 प्रतिशत ईवीएम या तो खराब थीं या ठीक से काम नहीं कर रही थीं.नायडू ने कहा, "यह एक बहुत बड़ा मजाक है.राष्ट्र के लिये आपदा है. मैं कह सकता हूं कि यह बहुत बड़ा भ्रम है, बड़ी गड़बड़ है."उन्होंने दावा किया था कि "आधिकारिक जानकारी" के अनुसार राज्य में 4,583 ईवीएम अटक गईं और यह एक "बड़ा संकट" था.उन्होंने उप चुनाव आयुक्त के उस स्पष्टीकरण पर भी नाराजगी जताई कि आंध्र प्रदेश में ईवीएम के साथ कोई समस्या नहीं थी.तेदेपा प्रमुख ने कहा था कि मैंने ऐसा असंवेदनशील, अवास्तविक, गैरजिम्मेदार और बेकार चुनाव आयोग कभी नहीं देखा. आपने लोकतंत्र का मजाक बना रखा है? चुनाव आयोग भाजपा के शाखा कार्यालय में बदल गया है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- सेव डेमोक्रेसी के बैनर तले एकजुट हुए विपक्षी दल, निष्पक्ष चुनाव की मांग