NDTV Khabar

राजीव गांधी पर हमले को लेकर JDU के केसी त्यागी बोले- PM के पास कई खुफिया जानकारी होती हैं, उस पर आपत्ति नहीं उठा सकते

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो गांधी परिवार युद्धपोत आईएनएस विराट का उपयोग ‘निजी टैक्सी’ के रूप में करते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) पर निशाना साध रहे हैं. बुधवार को उन्होंने आईएनएस विराट को लेकर राजीव गांधी पर निशाना साधा था. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने बुधवार को सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो गांधी परिवार युद्धपोत आईएनएस विराट का उपयोग ‘निजी टैक्सी' के रूप में करते थे. इस पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सहयोगी दल जदयू के नेता केसी त्यागी ने कहा कि प्रधानमंत्री के पास कई तरह की खुफिया जानकारी होती हैं और सार्वजनिक तौर पर जो जानकारी उन्होंने शेयर की है, उस पर आपत्ति उठाने का या असहमति व्यक्त करने का प्रश्न ही खड़ा नहीं होता है.' 

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'लेकिन जहां तक उनकी (राजीव गांधी) हत्या की बात है, उनकी हत्या लिट्टे द्वारा हुई थी और वो इस कार्य के लिए शहीद हुए थे. यह कहने में हमें कोई संकोच नहीं है. राजीव गांधी की हत्या के षड़यंत्र का खुलासा राष्ट्रहित के लिए बेहद जरूरी है.'


Election 2019: PM मोदी के राजीव गांधी के खिलाफ बोलने पर भड़क उठे बीजेपी के यह नेता, दिया तीखा बयान 

बता दें, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो गांधी परिवार युद्धपोत आईएनएस विराट का उपयोग ‘निजी टैक्सी' के रूप में करते थे. इससे पहले भी मोदी ने राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर 1' करार दिया था. दिल्ली में एक रैली के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस से सवाल किया कि जिस नेता के नाम से वे वोट मांगते हैं, जब उनके ‘कुकृत्यों' को बेनकाब किया जाता है तो वे क्यों सुलग जाते हैं?

पीएम मोदी का एक और सनसनीखेज आरोप, राजीव गांधी ने INS विराट का उपयोग टैक्सी की तरह किया

उन्होंने कांग्रेस पर वंशवाद की राजनीति को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया. मोदी ने इससे पहले राजीव गांधी पर आरोप लगाया था कि उनका अंत ‘भ्रष्टाचारी नंबर 1' के रूप में हुआ. प्रधानमंत्री ने दावा किया कि राजीव गांधी के नेतृत्व वाली तत्कालीन सरकार और नौसेना ने उनके परिवार एवं ससुराल पक्ष की मेजबानी की और उनकी सेवा में एक हेलीकाप्टर को भी लगाया गया. पीएम मोदी ने कहा, ‘आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक निजी टैक्सी की तरह करके इसका अपमान किया गया. यह तब हुआ जब राजीव गांधी एवं उनका परिवार 10 दिनों की छुट्टी पर गये हुए थे. आईएनएस विराट को हमारी समुद्री सीमा की रक्षा के लिए तैनात किया गया था, किन्तु इसका मार्ग बदल कर गांधी परिवार को लेने के लिए भेजा गया जो अवकाश मना रहा था.''

राजीव गांधी के वो 5 बड़े फैसले जिन्होंने आम आदमी की जिंदगी बदल दी, विवादों से भी रहा है गहरा नाता

उन्होंने यह भी दावा किया कि गांधी परिवार को लेने के बाद आईएनएस विराट द्वीप पर 10 दिनों तक खड़ा रहा. पीएम ने सवाल किया, ‘राजीव गांधी के साथ उनके ससुराल के लोग भी थे जो इटली से आये थे. सवाल यह है कि क्या विदेशियों को एक युद्धपोत पर ले जाकर देश की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया गया?' साथ ही उन्होंने कहा, ‘क्या यह कभी कल्पना की जा सकती है कि भारतीय सशस्त्र सेनाओं के प्रमुख युद्धपोत का इस्तेमाल निजी अवकाश के लिए एक टैक्सी की तरह किया जाए?' विमान वाहक आईएनएस विराट को भारतीय नौसेना में 1987 में सेवा में लिया गया था. करीब 30 वर्ष तक सेवा में रहने के बाद 2016 में इसे सेवा से अलग किया गया.

टिप्पणियां

अमेठी के शख्स ने चुनाव आयोग को भेजी 'खून' से लिखी चिट्ठी, राजीव गांधी पर PM मोदी की टिप्पणी से है खफा

Video: रणनीति: क्या मुद्दे भटकाने के लिए हो रहा है राजीव गांधी का जिक्र?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement