NDTV Khabar

रंग लाएगी महागठबंधन की कवायद? दिल्ली में शरद पवार के घर विपक्षी दलों की बैठक, राहुल, ममता और केजरीवाल भी शामिल

दिल्ली में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) के घर पर महागठबंधन (Mahagathbandhan) नेताओं की बैठक हुई. बैठक में चुनाव से पहले गठबंधन का फैसला लिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रंग लाएगी महागठबंधन की कवायद? दिल्ली में शरद पवार के घर विपक्षी दलों की बैठक, राहुल, ममता और केजरीवाल भी शामिल

दिल्ली में NCP प्रमुख शरद पवार के घर हुई महागठबंधन नेताओं की बैठक.

खास बातें

  1. शरद पवार के घर महागठबंधन नेताओं की बैठक
  2. दिल्ली में कांग्रेस-'आप' गठबंधन पर भी चर्चा!
  3. बैठक में ममता, राहुल, चंद्रबाबू नायडू और केजरीवाल भी शामिल
नई दिल्ली:

दिल्ली में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) के घर पर महागठबंधन (Mahagathbandhan) नेताओं की बैठक हुई. बैठक में चुनाव से पहले गठबंधन का फैसला लिया गया. बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal), कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi), पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू शामिल थे. बैठक में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अबदुल्ला भी शामिल थे. बैठक मे यह तय किया गया कि चुनाव के पहले गठबंधन किया जाएगा. बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर भी बात हूई.
वहीं, बैठक के बाद राहुल गांधी ने कहा कि दिल्ली और पश्चिम बंगाल को लेकर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है कि वह आम आदमी पार्टी से गठबंधन करेगी. वहीं, ममता बनर्जी ने कहा कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनेगा.

बता दें कि दिल्ली में कांग्रेस-आप गठबंधन को लेकर महागठबंधन नेताओं का कांग्रेस पर दबाव है कि दिल्ली में अगर आप-कांग्रेस गठबंधन नहीं हुआ तो विपक्ष को नुकसान हो सकता है. बता दें कि राहुल गांधी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ मंच साझा या बैठक नहीं करते, लेकिन विपक्षी नेताओं के कहने पर शरद पवार के घर बैठक के लिए पहुंचे. आप-कांग्रेस गठबंधन को लेकर बड़ा पेंच भी है कि क्या गठबंधन सिर्फ दिल्ली में या पंजाब और हरियाणा में भी?


 

 

बता दें कि दिल्ली के जंतर मंतर पर आज ही अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि पूरे देश में बीजेपी के सामने विपक्ष का एक हो उम्मीदवार होना चाहिए. बता दें कि आज आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की दिल्ली के जंतर-मंतर पर आयोजित रैली में विपक्षी नेताओं का जमावड़ा हुआ. इस प्रदर्शन (Aam Aadmi Party Opposition Rally) को आम आदमी पार्टी ने तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ सत्याग्रह नाम दिया था. रैली में विपक्षी नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. बता दें कि आज हुई 'आप' की 'महारैली' में 15 पार्टी के नेता शामिल हुए.

यह भी पढ़ें: AAP की महारैली में ममता बनर्जी ने कहा- मोदी हटाओ, देश बचाओ

रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी जी आपने सिर्फ दंगे की राजनीति की है. आपने लोगों का खून पिया है, जिसके चेहरे पर खून है, जिसने लोगों का खून पिया है, वह देश पर राज कर रहा है. वहीं, सीबीआई मामले पर ममता बनर्जी ने कहा कि मुझे पता है कि इसके बाद मेरे घर पर सीबीआई वाले आएंगे, तो इसके पहले ही बता देना मैं खाना बनाकर रखूंगी. वहीं, ममता बनर्जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस और लेफ्ट के साथ मिलकर लड़ेंगी. 

यह भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली पर आक्रमण का सपना पाकिस्तान देखता है, मगर मोदी जी आप भी यही कर रहे हैं

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सार्वजनिक कमिटमेंट करते हुए कहा कि बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस और लेफ्ट के साथ कंधे से कंधे मिलाकर लड़ेंगी. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर हम कांग्रेस और लेफ्ट के साथ लड़ेंगे. हम राज्य में भले ही अकेले लड़ेंगे, मगर राष्ट्रीय स्तर पर नहीं. 

यह भी पढ़ें: जो भ्रष्ट हैं, उन्हें मोदी से कष्ट है, महामिलावट के ये सारे चेहरे कोर्ट को धमकाने में जुटे हैं: पीएम मोदी

टिप्पणियां

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नरेंद्र मोदी को राफेल विमान समझौते पर बोलना चाहिए. प्रधानमंत्री के तौर पर वह देश के प्रति जवाबदेह हैं. आम आदमी पार्टी की इस रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित विपक्ष के कई नेता शामिल हुए. विपक्ष ने एक सुर में भाजपा को ‘लोकतंत्र के लिए खतरा' बताते हुए आगामी चुनाव में उसे हराने का संकल्प जताया. 

VIDEO: पीएम देश के संविधान को खत्म करना चाहते हैं - केजरीवाल​


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement