NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव : क्या है बिहार में महागठबंधन का जातीय समीकरण

अभी तक घोषित सीटों में से छह पर मुस्लिम समुदाय, आठ पर अगड़ी जाति, 13 पर ओबीसी, छह पर अति पिछड़ी जाति के उम्मीदवार होंगे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव : क्या है बिहार में महागठबंधन का जातीय समीकरण

तेजस्वी यादव ने लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की.

खास बातें

  1. बिहार में छह सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित
  2. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने की उम्मीदवारों की घोषणा
  3. वीआईपी पार्टी को तीनों सीटों पर अति पिछड़ा वर्ग के प्रत्याशी
पटना:

बिहार में महागठबंधन के घटक दलों के अधिकांश प्रत्याशियों के नामों की घोषणा शुक्रवार को की गई. यह घोषणा बिहार में महागठबंधन का चेहरा और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने की.

अभी तक कांग्रेस पार्टी की सूची के अनुसार जिन आठ उम्मीदवारों के नाम आज आधिकारिक रूप से सार्वजनिक हुए हैं उनमें कांग्रेस में दो मुस्लिम समुदाय से, पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा और पुनिया से उदयसिंह शामिल हैं. इसके अलावा कांग्रेस पार्टी से अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित सासाराम सीट से मीरा कुमार और समस्तीपुर से डॉक्टर अशोक कुमार फिर से उम्मीदवार बनाए गए हैं. कांग्रेस ने सुपौल से डॉक्टर रंजीत रंजन, जो यादव जाति से आती हैं, को एक बार फिर उम्मीदवार बनाया है.

क्या बिहार के चुनावी मैदान में 'तेज VS तेजस्वी' होने वाला है? ससुर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं तेजप्रताप


RJD के खाते में जो 19 सीटें आई हैं. इनमें से शिवहर को छोड़कर 18 सीटों के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की गई है. उसके अनुसार आठ यादव जाति, तीन राजपूत, चार मुस्लिम समुदाय से, एक अति पिछड़ा समुदाय से और दो अनुसूचित जाति के लिए रिज़र्व सीट से दलित उम्मीदवार होंगे.

प्रशांत किशोर को आखिरकार क्यों साफ करनी पड़ी जेडीयू में अपनी भूमिका

उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अभी तक घोषित एक मात्र उम्मीदवार भूदेव चौधरी हैं. वे अनुसूचित जाति के लिए रिज़र्व जमुई सीट से लड़ रहे हैं. उनके नाम की घोषणा की गई है. उपेंद्र कुशवाहा ने आज के संवाददाता सम्मेलन के बाद ट्वीट कर बताया है कि उनको मिली पांच सीटों में से एक पर जहां दलित उम्मीदवार है वहीं तीन कुशवाहा जाति से होंगे. एक सीट पर अगड़ी जाति का उम्मीदवार होगा. वहीं मुक्तेश सानी की वीआईपी पार्टी को तीन सीटें मिली हैं. उन्होंने अभी से घोषणा कर दी है कि उनकी तीनों सीटें अति पिछड़ा समुदाय के लोगों को ही मिलेंगी.

VIDEO : बिहार के महागठबंधन में फंसा पेंच

टिप्पणियां

इस हिसाब से अभी तक घोषित 39 सीटों में से छह पर मुस्लिम समुदाय, आठ पर अगड़ी जाति, 13 पर  OBC, छह पर अति पिछड़ी जाति के उम्मीदवार हैं. बाकी के छह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीटों से उम्मीदवार होंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement