NDTV Khabar

Indian Idol 10: अनु मलिक ने शूटिंग देखने के लिए पापा की जेब से चुराए थे 5 रुपये, मुंबई में यूं पूरा किया सपना

अनु मलिक, जिन्होंने इंडस्ट्री में खुद का एक मुकाम बनाया है, उन्होंने अपने शुरुआती दिनों की कहानी साझा की. जिस व्यक्ति ने हिंदी सिनेमा को इतने बेहतरीन गाने दिए, उन्होंने बताया कि किस तरह उन्होंने अपने शुरुआती दिन काटे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Indian Idol 10: अनु मलिक ने शूटिंग देखने के लिए पापा की जेब से चुराए थे 5 रुपये, मुंबई में यूं पूरा किया सपना

सिंगर अनु मलिक

खास बातें

  1. अनु मलिक ने चुराए थे 5 रुपए
  2. इंडियन आइडल के हैं जज
  3. पुरानी यादें की ताजा
नई दिल्ली: इंडियन आइडल (Indian Idol) का सीजन 10 भी जोर-शोर से सोनी एंटरटेनमेंट टेलीवीजन पर शुरू हुआ है. इसमें संगीत जगत की जानी मानी हस्तियां कंटेस्टेंट की प्रतिभाओं से हैरान रह गईं, जिन्होनें इस खिताब को पाने के लिए ऑडिशन दिया, फिर चाहे वह अनु मलिक हों, विशाल डडलानी हो या फिर नेहा कक्कड़. इनमें से कुछ की कहानियों ने ज्यूरी पैनल की तीनों सेलिब्रिटीज को भी भावुक कर दिया. संगीत गुरु अनु मलिक भी भावुक हो गए क्योंकि उन्हें मुम्बई में अपने शुरुआती दिन याद आ गए.

Indian Idol 10: इस सिंगर के लिए सांवला रंग बना सजा, कहानी सुन इमोशनल हो गए जज- देखें वीडियो

अनु मलिक, जिन्होंने इंडस्ट्री में खुद का एक मुकाम बनाया है, उन्होंने अपने शुरुआती दिनों की कहानी साझा की. जिस व्यक्ति ने हिंदी सिनेमा को इतने बेहतरीन गाने दिए, उन्होंने बताया कि किस तरह उन्होंने अपने शुरुआती दिन काटे थे. इन्हीं प्रतिभाशाली गायकों की तरह वे भी काम की तलाश में मुम्बई आए थे. संगीत में कुछ करने के लिए अपना नाम कमाने की चाह लिए उन्होंने अपने पहले म्यूजिक वीडियो बारिश का मौसम की शूटिंग की यादें ताजा की. 

उन्होंने कहा कि संघर्ष के दिन ऐसे थे कि उनके पास अपना दिन काटने और अपने सपनों को पूरा करने के लिए थोड़ा बहुत मामूली पैसा भी नहीं होता था. मगर उन्हें अपनी काबिलियत पर यकीन था कि एक न एक दिन जरूर उनकी यह मेहनत रंग लाएगी. दुर्भाग्य से अनु मालिक ने अपने पिता की जेब से पांच रूपए चुराए थे जिससे वे वीडियो की शूटिंग देखने जा सकें.

जिस शो में बनी थीं कंटेस्टेंट, 12 साल बाद वहीं जज की कुर्सी पर बैठीं नेहा कक्कड़

सेट से एक स्रोत ने बताया कि मलिक, आज जहां पर हैं वहां पर आने के लिए उन्होंने बहुत संघर्ष किया है. संगीतकार और गायक अनु मलिक के लिए यह सब आसान नहीं था, मगर उन्होंने अपने जूनून और जिद के आगे हार नहीं मानी और यह उनका जूनून ही था जिसने उन्हें संगीत में यह मुकाम दिलाया. जिस तरीके से उन्होंने अपने संगीतकार बनने के शुरुआती दिनों के संघर्ष की यादें बताईं, वह रुला देने वाली थीं. वे कभी पैसे नहीं चुराना चाहते थे, मगर वह एक मासूम कदम था, जिसने उन्हें आज यहां तक पहुंचा दिया. 

टिप्पणियां
उन्होंने अपने पिता की जेब से पांच रूपए चुराए थे और शूट देखने के लिए टैक्सी की थी. वे अपने उन अनुभवों के लिए शुक्रगुजार हैं, जिसने हर कदम पर उन्हें सिखाया. यह जानना बहुत ही प्रेरक है कि अनु ने कैसे इतनी संगीतमय सफलता हासिल की.

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement