NDTV Khabar

भारत-पाक में बढ़े तनाव के बीच इमरान खान ने सेना को किया अलर्ट, पुलवामा हमले में हाथ होने से भी इनकार

लवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद भारत और पाकिस्तान में बढ़े तनाव के बीच इमरान खान (Imran Khan) ने राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (NSC) की बैठक की और अपनी सेना को तैयार रहने को कहा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत-पाक में बढ़े तनाव के बीच इमरान खान ने सेना को किया अलर्ट, पुलवामा हमले में हाथ होने से भी इनकार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद:

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद भारत और पाकिस्तान में बढ़े तनाव के बीच इमरान खान (Imran Khan) ने राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (NSC) की बैठक की और अपनी सेना को तैयार रहने को कहा. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के किसी भी 'आक्रमण या दुस्साहस' का जवाब देने के लिए अपनी सेना को तैयार रहने का आदेश दिया है. इमरान खान ने गुरुवार को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC) की एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें देश की सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की गई. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार अपने लोगों की रक्षा करने में सक्षम है.

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री पर भड़के कुमार विश्वास ने पीएम मोदी से कहा- इन 'नमूनों' से कहिए, अपने सरकारी बंगलों में मगन रहें


बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया है, 'उन्होंने भारत के किसी भी आक्रामण या दुस्साहस का निर्णायक और व्यापक रूप से जवाब देने के लिए सशस्त्र बलों को अधिकृत किया है.' रेडियो पाकिस्तान ने इमरान खान के हवाले से बताया, 'यह एक नया पाकिस्तान है और हम अपने लोगों को यह दिखाने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि मुल्क उनकी रक्षा करने में सक्षम है.' बयान के अनुसार, 'देश के शीर्ष असैन्य और सैन्य नेतृत्व ने कहा है, 'पाकिस्तान पुलवामा घटना में किसी भी तरह से शामिल नहीं है.'

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले के बाद भारत का बड़ा कदम, पाकिस्तान को दी पानी रोकने की चेतावनी

इसमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने पूरी ईमानदारी के साथ 'घटना' की जांच कराने और आतंकवाद समेत भारत के साथ अन्य विवादित मुद्दों पर बातचीत करने की पेशकश की है. इसमें कहा गया है, 'हम इन पेशकश पर भारत से सकारात्मक जवाब की उम्मीद करते हैं.' कहा गया कि जांच के आधार पर या कोई भी ठोस सबूत उपलब्ध कराया जाता है तो पाकिस्तान उस किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करेगा, जिसने इस कृत्य के लिए उसकी सरजमीं का इस्तेमाल किया होगा.

यह भी पढ़ें: पुलवामा आतंकी हमला: BJP का कांग्रेस पर पलटवार, पीएम मोदी की अगुवाई में देश न झुकेगा, न रुकेगा

एनएससी ने कश्मीर मुद्दे के समाधान में वैश्विक समुदाय से अपनी भूमिका निभाने का आग्रह किया. खान ने मंगलवार को एक वीडियो संदेश में भारत को आश्वासन दिया था कि यदि नई दिल्ली 'कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी' साझा करता है तो वह पुलवामा आतंकवादी हमले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगा, लेकिन उन्होंने साथ ही चेतावनी दी थी कि यदि कोई भी कार्रवाई की गई तो पाकिस्तान उसके खिलाफ जवाबी कार्रवाई करेगा. वहीं, भारत ने पुलवामा आतंकी हमले के संदर्भ में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की टिप्पणियों खारिज कर दिया था.

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले के दिन 14 फरवरी को किस वक्त क्या कर रहे थे पीएम नरेंद्र मोदी?

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि उन्हें इस बात से कोई आश्चर्य नहीं है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पुलवामा में हमारे सुरक्षा बलों पर हुए हमले को आतंकवादी कृत्य मानने से इनकार कर दिया है, साथ ही इस जघन्य कृत्य की न तो निंदा की और न ही पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की. मंत्रालय ने अपने बयान में कहा था, 'आतंकी हमले से अपना कोई संबंध नहीं होने की बात कहना पाकिस्तान का पुराना बहाना रहा है.'

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान ने सऊदी के शाहजादे मोहम्मद बिन सलमान को दिया यह उपहार...

एनएससी की बैठक से पहले प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने एक बैठक की, जिसमें क्षेत्र की सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की गई. जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में बीते 14 फरवरी को पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदे एक वाहन को सीआरपीएफ की एक बस से टकरा दिया था, जिससे 40 जवान शहीद हो गए थे.

टिप्पणियां

VIDEO: रणनीति: पाक पर बन पाएगा दबाव?​

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement