NDTV Khabar

गुजरात चुनाव में बीजेपी से टक्‍कर ले रही है ये खूबसूरत लड़की, कांग्रेस ने चली है ये 'चाल'

बीजेपी के गढ़ मणिनगर में कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है. मैनेजिंग कंसल्टेंट श्वेता ब्रह्मभट्‌ट को टिकट दिया है.

10.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात चुनाव में बीजेपी से टक्‍कर ले रही है ये खूबसूरत लड़की, कांग्रेस ने चली है ये 'चाल'

बीजेपी के गढ़ मणिनगर में कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है. मैनेजिंग कंसल्टेंट श्वेता ब्रह्मभट्‌ट को टिकट दिया है.

खास बातें

  1. बीजेपी के गढ़ मणिनगर में कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है.
  2. मणिनगर में कांग्रेस ने नया चेहरा श्वेता ब्रह्मभट्‌ट को टिकट दिया है.
  3. श्वेता के पिता नरेंद्र ब्रह्मभट्‌ट भी कांग्रेसी हैं.
नई दिल्ली: गुजरात चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी जीत के लिए हर तरह की कोशिश करने में लगी है. पार्टियां अपने-अपने प्रत्याशी मैदान में उतार रही है. पार्टी साफ सुधरी छवि वाले प्रत्याशियों को उतार रही है. ऐसे में कांग्रेस ने बीजेपी वाली सीट में एक प्रत्याशी को खड़ा किया है जिसकी सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है. बीजेपी के गढ़ मणिनगर में कांग्रेस ने बड़ा दांव खेला है. मैनेजिंग कंसल्टेंट श्वेता ब्रह्मभट्‌ट को टिकट दिया है. जो सोशल वर्कर भी हैं. 

पढ़ें- प्राची में PM मोदी का राहुल पर वार- सोमनाथ को याद करने वाले क्‍या अपना इतिहास भूल गए, 10 बातें

लंदन में की पढ़ाई
श्वेता के पिता नरेंद्र ब्रह्मभट्‌ट भी कांग्रेसी हैं. उन्होंने साल 2000 में कांग्रेस के टिकट पर म्युनसिपल कॉरपोरेशन का चुनाव भी लड़ा था. श्वेता को हमेशा से ही कॉर्परेट वर्ल्ड में आना चाहती थीं. जिसके लिए उन्होंने अहमदाबाद से ही BBA की डिग्री ली जिसके बाद वो मास्टर्स करने लंदन की यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टमिंस्टर चली गईं. जिसके बाद वो इंवेस्टमेंट बैंकर बन गई. वे आईआईएम बैंगलोर में पॉलीटिकल लीडरशिप कोर्स करना चाहती थीं. वो ये कोर्स करने वाली गुजरात ने 26 लोगों में से एक थीं. जहां उन्हें कई कांग्रेस लीडर्स ने गाइड किया. 

पढ़ें- कांग्रेस नेता पुनिया बोले, षड्यंत्र के तहत विरोधियों के नाम मतदाता सूची से काटे गए
 
shweta brahmbhatt

कभी खोलना चाहती थीं बिजनेस
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक,  वे महिलाओं की सेवा करने के उद्देश्य से राजनीति में आई हैं. 34 साल की श्वेता 2012 में स्टैंडअप इंडिया से लोन लेकर बिजेनस शुरू चाहती थी, लेकिन मुश्किलें आने पर पॉलिटिक्स में आना तय किया. जब श्वेता का नाम सामने आया तो पार्टी में मिली-जुली प्रतिक्रिया सामने आई. कुछ ने तो प्रदर्शन भी किया. बता दें, मणिनगर से सुरेश पटेल जीतते आ रहे हैं. ऐसे में कांग्रेस ने नए चेहरे को उतारकर दांव खेला है. 

पढ़ें- सूरत की सड़कों पर अचानक दिखे गब्बर, कालिया और ठाकुर, जानिये क्या है पूरा मामला...

'फोकस बीजेपी को पछाड़ना नहीं'
श्वेता का कहना है, 'मेरा फोकस बीजेपी को हराने का नहीं है. मेरा मानना है कि राजनीति में इतना काम किया जाए कि लोग नेताओं का पालन करें, उनके जैसा बनना चाहें, इस तरह हम समाज को अच्छा उधाहरण दे सकते हैं. कांग्रेस धर्मनिरपेक्षता की विचारधारा में चलने वाली पार्टी है, इसलिए मैंने इसको चुना.'

देखें वीडियो: गुजरात चुनाव में टिकट बंटवारे पर कांग्रेस में कोहराम

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement