NDTV Khabar

Kedarnath Review: सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की दमदार एक्टिंग लेकिन कमजोर निकली 'केदारनाथ'

Kedarnath Movie Review: 'केदारनाथ' सारा अली खान (Sara Ali Khan) की डेब्यू फिल्म है. 'रॉक ऑन' और 'काई पो चे' जैसी बेहतरीन फिल्में बनाने वाले अभिषेक कपूर (Abhishek Kapoor) ने इसका निर्देशन किया है. जानें कैसी है 'केदारनाथ'. पढ़ें फिल्म समीक्षा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Kedarnath Review: सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की दमदार एक्टिंग लेकिन कमजोर निकली 'केदारनाथ'

Kedarnath Review: सारा अली खान (Sara Ali Khan) और सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की बेहतरीन एक्टिंग

खास बातें

  1. सारा अली खान की डेब्यू फिल्म है
  2. अभिषेक कपूर हैं डायरेक्टर
  3. सुशांत सिंह राजपूत हैं लीड रोल में
नई दिल्ली: 'केदारनाथ (Kedarnath)' फिल्म आज रिलीज हो गई है. सैफ अली खान तथा अमृता सिंह की बिटिया सारा अली खान (Sara Ali Khan) 'केदारनाथ' से बॉलीवुड में आगाज कर रही हैं. 'रॉक ऑन' और 'काई पो चे' जैसी बेहतरीन फिल्में बनाने वाले अभिषेक कपूर (Abhishek Kapoor) ने इसका निर्देशन किया है और सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) जैसे बेहतरीन एक्टर को सारा अली खान के साथ कास्ट किया. 'केदारनाथ (Kedarnath)' का विषय 2013 में केदरानाथ में आई प्राकृतिक आपदा था, जिसके साथ एक प्रेम कहानी को बुना गया. लेकिन सारा अली खान की बेहतरीन एक्टिंग, सुशांत सिंह राजपूत का दिल छू लेने वाला किरदार और केदारनाथ जैसा विषय होने के बावजूद फिल्म दिल-दिमाग पर छा जाने में पूरा तरह नाकाम रहती है. फिल्म में न तो इश्क की गहराई है और न ही केदारनाथ त्रासदी का दर्द ही है. इस तरह 'केदारनाथ (Kedarnath)' बेमन से बनाई फिल्म लगती है.

सपना चौधरी ने पंजाबी ढोल बजते ही लगाए जोरदार ठुमके, डांस Video हुआ वायरल



Bigg Boss 12: सलमान खान का रोहित-सुरभि पर फूटा गुस्सा, बोले- मैं भी इन हालात से गुजर चुका हूं...देखें Video

'केदारनाथ (Kedarnath)' की कहानी उत्तराखंड के केदारनाथ धाम की है. जहां मंसूर (सुशांत सिंह राजपूत) पिट्ठू का काम करता है तो वहीं पंडितजी की बिटिया मुक्कू (सारा अली खान) है जो बहुत ही चुलबुली है. मंसूर और मुक्कू को इश्क हो जाता है. लेकिन मंसूर का धर्म अलग है और मुक्कू ठहरी केदारनाथ के सबसे बड़े पंडितजी की बिटिया. तो यह रिश्ता नामुमकिन है. मुक्कू की शादी हो जाती है. मंसूर की बुरी तरह पिटाई होती है. सबकुछ बिखर जाता है और फिर लंबे इंतजार के बाद आती है केदारनाथ की प्राकृतिक त्रासदी. फिर काफी कुछ होता है, लेकिन वह सब नहीं हो पाता जैसा बतौर दर्शक उम्मीद थी. 'केदारनाथ (Kedarnath)' का पहला हाफ बहुत ही सुस्त है और दूसरा भी कोई उम्मीद नहीं जगाता है. 'केदारनाथ (Kedarnath)' का डायरेक्शन बेहद कमजोर है और कहानी कुछ भी नया नहीं दिखाती है. अभिषेक कपूर पूरी तरह चूकते नजर आते हैं. 

2.0 Box Office Collection Day 8: रजनीकांत-अक्षय कुमार की 'Robot 2.0' ने उड़ाया गरदा, कमाए इतने करोड़

'केदारनाथ (Kedarnath)' से सारा अली खान (Sara Ali Khan) ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है और 'केदारनाथ (Kedarnath)' को देखकर साफ हो जाता है कि सारा अली खान के आगे ब्राइट फ्यूचर है. सारा अली खान एक्टिंग में बहुत सधी हुई हैं और स्क्रीन पर काफी क्यूट भी दिखती हैं. सुशांत सिंह राजपूत हमेशा की तरह अच्छी एक्टिंग करते नजर आते हैं. सुशांत ने मंसूर के किरदार को स्क्रीन पर बखूबी उतारा है. बाकी फिल्म में कोई एक्टर या कैरेक्टर ऐसा नहीं है जिसने कुछ हटकर किया हो. 

Son Chiriya Teaser: 'सोन चिड़िया' में डकैत बने सुशांत सिंह राजपूत, बोले- बैरी बेईमान, बागी सावधान!

'केदारनाथ (Kedarnath)' का म्यूजिक एवरेज है और फिल्म में गाने थकाने का काम करते हैं. डायरेक्शन के मोर्चे पर अभिषेक कपूर गच्चा खा गए हैं. फिल्म का बजट लगभग 35 करोड़ रु. बताया जाता है. लेकिन कमजोर कहानी और सामान्य फिल्म होने की वजह से 'केदारनाथ' से बड़ी उम्मीदें कम ही हैं क्योंकि फिल्म न तो प्रेम कहानी के तौर पर छूती है और न ही त्रासदी आधारित विषय पर बनी सॉलिड फिल्म ही है.

रेटिंगः 2 स्टार
डायरेक्टरः अभिषेक कपूर
कलाकारः सारा अली खान, सुशांत सिंह राजपूत और नीतीश भारद्वाज

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...