MS धोनी अभी भी वनडे के सर्वश्रेष्‍ठ फिनिशर, माइकल बेवन को भी पीछे छोड़ा : इयान चैपल

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) वनडे सीरीज (ODI Series) के अपने प्रदर्शन से धोनी ने 'ओल्‍ड इज गोल्‍ड' की बात को फिर साबित किया.

MS धोनी अभी भी वनडे के सर्वश्रेष्‍ठ फिनिशर, माइकल बेवन को भी पीछे छोड़ा : इयान चैपल

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज में धोनी सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी रहे

नई दिल्ली:

टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को एक समय वनडे क्रिकेट में दुनिया का सर्वश्रेष्‍ठ फिनिशर माना जाता था. समय और उम्र गुजरने के साथ धोनी की बल्‍लेबाजी में थोड़ी सुस्‍ती आती गई और धीमी बैटिंग के कारण 'माही' हाल के समय में आलोचकों के निशाने पर रहे. कई लोग तो यह बात भी कहने से नहीं चूके कि धोनी को वनडे और टी20 की भारतीय टीम में जगह नहीं मिलनी चाहिए. बहरहाल, ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) वनडे सीरीज (ODI Series) के अपने प्रदर्शन से धोनी ने 'ओल्‍ड इज गोल्‍ड' की बात को फिर साबित किया. उन्‍होंने न केवल सीरीज में टीम इंडिया को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई बल्कि मैन ऑफ द सीरीज भी घोषित किए है. धोनी ने अपने इस प्रदर्शन से उन आलोचकों को करारा जवाब दिया है जो उनकी बल्‍लेबाजी की क्षमता पर सवाल उठा रहे थे. वनडे सीरीज में धोनी के इस प्रदर्शन को ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान इयान चैपल (Ian Chapell) ने जमकर सराहा है. चैपल के अनुसार, 37 वर्ष के हो चुके धोनी अभी भी 50 ओवर के फॉर्मेट में सर्वश्रेष्‍ठ फिनिशर हैं.

MS Dhoni ने रिटायरमेंट के सवाल पर दिया करारा जवाब, Video हो रहा वायरल... देखें

इयान चैपल ने पूर्व भारतीय कप्तान धोनी की सूझबूझ और इतने लंबे समय तक खेलने के जज्बे को सलाम किया. उन्‍होंने ईएसपीएन क्रिकइंफो में अपने कॉलम में लिखा, ‘किसी के पास भी उनकी तरह मैच को फिनिश करके जीत दिलाने वाली सूझबूझ नहीं है. कई बार मैंने सोचा, ‘इस बार उसने थोड़ी देर से शॉट लगाया', लेकिन थोड़ी देर में हैरान हुआ कि उसने दो ताकतवर शॉट लगाकर भारत को रोमांचक जीत दिला दी.' उन्होंने कहा, ‘वह बाहर से जिस तरह शांत दिखता है, वह कोई भ्रम नहीं है क्योंकि ऐसे हालात में वह जिस तरह से खुद को बदलता है, वह इस बात का सबूत है कि उसका दिमाग ऐसी परिस्थिति में बेहतरीन ढंग से काम करता है.'माइकल बेवन को खेल के महान सूत्रधारों में से एक माना जाता है, बेवन से तुलना करते हुए चैपल ने कहा कि धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के छठे नंबर के इस बल्लेबाज को पीछे छोड़ दिया है.

खलील अहमद की हरकत पर MS धोनी को आया गुस्‍सा, यूं लगाई फटकार, Video

Newsbeep

उन्होंने लिखा, ‘बेवन मैच का अंत चौके से करते थे, लेकिन धोनी छक्के से करते हैं. जहां तक विकेटों के बीच में दौड़कर रन लेने की बात है तो आप निश्चित रूप से बेवन को सबसे पहले मानेंगे लेकिन 37 साल की उम्र में भी धोनी खेल में सबसे तेज रन लेने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं.' चैपल ने कहा, ‘बल्लों में सुधार की अनुमति देने और टी20 क्रिकट में खेलने के फायदे से, आंकड़ों के हिसाब से धोनी बेवन से बेहतर है. इसमें कोई बहस नहीं हो सकती कि धोनी सर्वश्रेष्ठ वनडे फिनिशर हैं.' पिछले कुछ समय में आलोचकों ने धोनी की धीमी पारियों की आलोचना की थी लेकिन इस खिलाड़ी ने एडिलेड में गगनचुंबी छक्का जड़कर उन सभी को चुप कर दिया. सर्वश्रेष्ठ वनडे बल्लेबाज की बहस के संबंध में चैपल को लगता है कि विराट कोहली महान खिलाड़ी विव रिचर्ड्स, सचिन तेंदुलकर और एबी डिविलियर्स को पीछे छोड़ देंगे और अपने करियर का अंत ‘वनडे के सर डोनाल्ड ब्रैडमैन' के तौर पर करेंगे. उन्होंने लिखा, ‘कोहली अपनी वनडे बल्लेबाजी के तरीके से मुझे रिचर्ड्स की याद दिलाते हैं, वह शानदार शॉट लगाते हैं और कई पारंपरिक स्ट्रोक्स पर निर्भर होते हैं. अगर वह इसी मौजूदा रन गति से खेलना जारी रखेगा तो वह तेंदुलकर के कुल शतकों को पार कर लगेंगे और इस लिटिल माटर से करीब 20 शतक आगे रहेगा.' उन्होंने लिखा, ‘अगर वह इन शानदार उपलब्धियों को हासिल करने के करीब भी पहुंच जाता है तो इसमें कोई शक नहीं कि वह वनडे बल्लेबाजों का सर डोनाल्ड ब्रैडमैन बन जाएंगे. '

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन