न तो मैंने इस्तीफा दिया है और न ही मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा गया: मनोज तिवारी

दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की करारी हार के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने इस्तीफे की पेशकश की.

न तो मैंने इस्तीफा दिया है और न ही मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा गया: मनोज तिवारी

दिल्ली में BJP की हार के बाद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने की इस्तीफे की पेशकश.

खास बातें

  • दिल्ली बीजेपी प्रमुख मनोज तिवारी ने की इस्तीफे की पेशकश
  • पार्टी आलाकामन ने कहा- फिलहाल इस्तीफे की जरूरत नहीं
  • मनोज तिवारी ने इस्तीफे की पेशकश की खबर से इनकार किया
नई दिल्ली:

दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की करारी हार के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने इस्तीफे की पेशकश की. सूत्रों ने बताया कि मनोज तिवारी की पेशकश के बाद पार्टी आलाकमान ने कहा कि फिलहाल इस्तीफे की जरूरत नहीं. हालांकि मनोज तिवारी ने इस खबर से इनकार किया. पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि 'न तो मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा गया है और न ही मैंने अपना इस्तीफा दिया है.' बता दें कि 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में बीजेपी को 8 सीटें मिली हैं. वहीं, एक बार फिर आम आदमी पार्टी (AAP) ने प्रचंड जीत हासिल की. आम आदमी पार्टी को 62 सीटें मिलीं. वहीं, कांग्रेस के खाते में इस बार भी कोई भी सीट नहीं आई. चुनाव परिणाम के बाद से ही इस्तीफे का दौर जारी है. सबसे पहले हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने भी इस्तीफे की पेशकश कर दी. मनोज तिवारी ने बुधवार को पार्टी ऑफिस में चुने गए विधायकों से मुलाकात भी की.
 


Delhi Results 2020: दिल्‍ली में AAP की हैट्रिक, नहीं चल पाया BJP का कोई भी 'पैंतरा'- कांग्रेस का फिर सूपड़ा साफ

इससे पहले मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी को जीत की बधाई दी थी. मनोज तिवारी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि दिल्ली के सभी मतदाताओं का धन्यवाद, उन्होंने लिखा सभी कार्यकर्ताओं को उनके कठिन परिश्रम के लिए साधुवाद. दिल्ली का जनादेश सिर माथे पर. अरविंद केजरीवाल को बहुत बहुत बधाई.

Delhi Election Results: BJP की हार के बाद पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा का आया Reaction, कही यह बात...

BJP सांसदों का रिपोर्ट कार्ड
भारतीय जनता पार्टी के सात सांसदों का इस विधानसभा चुनाव में रिपोर्ट कार्ड कैसा रहा? ये सवाल अब पार्टी के अंदर से उठ रहे हैं. खुद पश्चिमी दिल्ली के सांसद परवेश वर्मा की संसदीय सीट में आने वाली 10 सीटों में सभी पर बीजेपी के उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा. परवेश वर्मा के चाचा मास्टर आजाद सिंह मुंडका विधान सभा से चुनाव हार गए, जबकि दक्षिणी दिल्ली से सांसद रमेश बिधूड़ी के भतीजे विक्रम सिंह को लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा है.

बीजेपी के बयानवीर, जिनके बयान सुर्ख़ियां बने लेकिन दिल्ली नहीं जिता पाए

रमेश बिधूड़ी के संसदीय क्षेत्र से सिर्फ एक सीट बदरपुर पर रामवीर सिंह बिधूड़ी को ही जीत मिल पाई. वहीं नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी अपने संसदीय सीट से एक भी प्रत्याशी को जीत नहीं दिला पाईं. उधर, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्द्धन के संसदीय सीट चांदनी चौक से भी बीजेपी का खाता नहीं खुला. हंसराज हंस के संसदीय सीट यानी उत्तरी पश्चिमी सीट से महज एक सीट रोहिणी विधानसभा पर बिजेंदर गुप्ता को जीत हासिल हो सकी.

Newsbeep

BJP सांसद रमेश बिधूड़ी बोले- 'देशद्राहियों को गोली मारने के नारे लगाने में क्या गलत है'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सबसे अच्छा प्रदर्शन बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के संसदीय सीट उत्तरी पूर्वी दिल्ली में रहा, जहां रोहतास नगर, करावल नगर और घोंडा विधानसभा सीट पर बीजेपी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की. जबकि उन्हीं के बराबर गौतम गंभीर की संसदीय सीट पूर्वी दिल्ली लोकसभा में लक्ष्मी नगर, विश्वास नगर, और गांधी नगर के तीन विधानसभा सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों ने जीत हासिल की.