NDTV Khabar

बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए कम्प्यूटर बाबा ने पीएम मोदी को दी चुनौती, कहा- राम मंदिर बनाओ नहीं तो....

कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba)  भोपाल से कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्गिवजय सिंह के समर्थन में प्रचार कर रहे हैं. मंगलवार को वह दिग्गिवजय सिंह के अनुष्ठान में शामिल होने आए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए कम्प्यूटर बाबा ने पीएम मोदी को दी चुनौती, कहा- राम मंदिर बनाओ नहीं तो....

कम्प्यूटर बाबा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

खास बातें

  1. कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि पीएम मोदी ने कोई वादा पूरा नहीं किया
  2. भोपाल में दिग्विजय सिंह के लिए वोट मांग रहे हैं कम्प्यूटर बाबा
  3. साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ मैदान में हैं दिग्विजय सिंह
नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba)  ने भोपाल में होने वाले लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी पर हमला बोला है. उन्होंने (Computer Baba) पीएम मोदी (PM Modi) को चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा ने अपने पांच साल के शासन में अयोध्या में राम मंदिर नहीं बना पाई, इसलिए अब राम मंदिर नहीं तो मोदी भी नहीं. बता दें कि कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba)  भोपाल से कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्गिवजय सिंह के समर्थन में प्रचार कर रहे हैं. मंगलवार को वह दिग्गिवजय सिंह के अनुष्ठान में शामिल होने आए थे. इसी दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए ऐसा कहा.  उन्होंने (Computer Baba) इस दौरान कहा कि बीजेपी सरकार ने अभी तक बेवकूफ ही बनाया है संत समाज एवं जनता जनार्दन को. ये (भाजपा वाले) झूठ बोलते हैं. इन्होंने राम मंदिर (निर्माण की बात) कही थी. पांच साल में राम मंदिर भी नहीं बना पाये और फिर (राम मंदिर निर्माण की बात) लेकर आ गये. अब जनता जनार्दन एवं संत समाज बेवकूफ नहीं बनेगा. कम्प्यूटर बाबा ने आगे कहा कि अब राम मंदिर नहीं तो मोदी नहीं.

योगी ने किया गौतम गंभीर के लिए चुनाव प्रचार, कहा- शानदार पारी की शुरुआत दिल्ली से हो


उन्होंने बताया कि पूरे साधु समाज का कहना है कि राम- राम ही अबकी बार, बदल कर रख दो चौकीदार. दिग्विजय सिंह को जिताने के लिए अनुष्ठान करने पर पूछे गये सवाल पर कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमारा अनुष्ठान हो गया. तप-तपस्या हो गई. संतों ने अपने तरीके से अनुष्ठान किया, हठ योग किया, तप किया. अखाड़ा वाले संतों ने अखाड़ा खेल करके ईश्वर से प्रार्थना की कि धर्म से चलने वाला व्यक्ति, जो नर्मदा की सेवा करने वाला, संतों की सेवा करने वाला दिग्विजय सिंह है, वो लाखों वोट से विजयी हों. भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय के खिलाफ भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ रही साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि भगवा ड्रेस पहनने से कोई साधु नहीं हो जाता है. जो बम ब्लास्ट में फंसे, जो हत्याकांड में है और कोर्ट से जमानत से बाहर आये, क्या बीजेपी को कोई और नहीं मिला. अरे शिवराज सिंह चौहान लड़ लेते चुनाव. शिवराज क्यों नहीं लड़े? अरे बहुत सारे बड़े-बड़े नेता थे. उमा भारती ने मना किया. कोई तो लड़ना चाहता नहीं.

AAP उम्मीदवार आतिशी का जाति-धर्म बताने पर दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया को चुनाव आयोग का नोटिस

उन्होंने कहा कि मालूम है दिग्विजय सिंह धर्म से चलने वाला, नर्मदा के प्रति आस्था रखने वाला व्यक्ति है. वो जीतेगा, इसलिए ये सामने नहीं आये और बलि का बकरा देवीजी (प्रज्ञा) को बना दिया. भाजपा एवं प्रज्ञा पर निशाना साधते कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि हमारे साधु संत इसीलिए नाराज हैं बीजेपी से कि बीजेपी वालों ने उनको (प्रज्ञा) टिकट दिया है, जिन्होंने हमारी सैनिकों का सम्मान नहीं किया है. असम्मानित शब्दों का उपयोग किया है हमारे (शहीद पुलिस अधिकारी) हेमंत करकरे के लिए. वह साधु हो ही नहीं सकती.

टिप्पणियां

लोकसभा चुनाव 2019 : दिल्ली में बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उतारे कितने दागी उम्मीदवार

बता दें कि कम्प्यूटर बाबा के बचपन का नाम नामदेव त्यागी है. वह जनता में कम्प्यूटर बाबा के नाम से मशहूर हैं. उन्हें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त था, लेकिन कम्प्यूटर बाबा ने प्रदेश में नर्मदा नदी में अवैध खनन रोकने का वादा पूरा नहीं करने का आरोप चौहान पर लगाते हुए पिछले साल अक्टूबर में पद से इस्तीफा दे दिया था, और कांग्रेस के समर्थन में पिछले साल नवंबर में हुए विधानसभा चुनाव में प्रचार किया. मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें इस साल मार्च में नर्मदा, क्षिप्रा और मंदाकिनी नदी न्यास का अध्यक्ष नियुक्त किया है. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement