NDTV Khabar

NDTV पोल ऑफ पोल्स : एनडीए और बीजेपी को तगड़ा नुकसान, लेकिन आ रही है मोदी सरकार

उत्तर प्रदेश की तो यहां बीजेपी तगड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है. बीजेपी को यहां 40 सीटें मिल सकती हैं. सपा-बसपा गठबंधन को 36 और कांग्रेस को 2 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. वहीं बिहार में एनडीए यानी बीजेपी+जेडीयू+एलजेपी को 31 और कांग्रेस-आरजेडी गठबंधन को 9 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV पोल ऑफ पोल्स : एनडीए और बीजेपी को तगड़ा नुकसान, लेकिन आ रही है मोदी सरकार

खास बातें

  1. बीजेपी को मिल सकती हैं 228 सीटें
  2. एनडीए को कुल सीटें 274
  3. यूपीए-140, कांग्रेस-88 सीटें
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव  के पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा. ज्यादातर चुनाव पूर्व सर्वे में केंद्र में मोदी सरकार  की वापसी की ओर इशारा कर रहे हैं लेकिन उसको सीटों को लेकर भारी नुकसान होता दिख रहा है. एनडीटीवी पोल ऑफ पोल्स में जो आंकड़े हैं उसके मुताबिक एनडीए को 274 सीटों मिलती दिखाई दे रही हैं जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में उसे 336 सीटें मिली थीं.  बात करें बीजेपी की सीटों की तो उसे 228 सीटें मिल रही हैं. पिछली बार के मुकाबले उसे 54 सीटों का नुकसान होता दिखाई दे रहा है. वहीं यूपीए को कुल 140 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं और कांग्रेस को 88 सीटें मिल सकती हैं. इस बार भी वह तीन अंकों तक जाते नहीं दिखाई दे रही है. पिछली बार उसे 44 सीटें मिली थीं. वहीं अन्य के खाते में 129 सीटें जा सकती हैं. कुल मिलाकर केंद्र में एक बार फिर से मोदी सरकार की वापसी की संकेत मिल रहे हैं. अगर ऐसा होता है तो यह एक तरह से कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जाएगा. 

खत्म नहीं हुई लालू परिवार में 'कलह': तेजप्रताप ने तेजस्वी से की शिवहर प्रत्याशी बदलने की मांग, बताया BJP नेताओं का करीबी


बात करें उत्तर प्रदेश की तो यहां बीजेपी तगड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है. बीजेपी को यहां 40 सीटें मिल सकती हैं. सपा-बसपा गठबंधन को 36 और कांग्रेस को 2 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. वहीं बिहार में एनडीए यानी बीजेपी+जेडीयू+एलजेपी को 31 और कांग्रेस-आरजेडी गठबंधन को 9 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. झारखंड में बीजेपी गठबंधन और कांग्रेस गठबंधन को 7-7 सीटें मिल रही हैं. दिल्ली में बीजेपी के खाते में सभी 7 सीटें जाती दिखाई दे रही हैं. हालांकि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का गठबंधन अगर हो जाता है तो कुछ सीटों पर समीकरण भी बदल भी सकते हैं. कांग्रेस के लिए बड़ा झटका राजस्थान और मध्य प्रदेश में लगता दिखाई दे रहा है क्योंकि हाल ही में वहां सरकार बनाने के बाद भी लोकसभा चुनाव में उसकी सीटों में ज्यादा इजाफा नहीं हो रहा है. छत्तीसगढ़ में बीजेपी 4 और कांग्रेस को 7 सीटें मिल रही हैं. राजस्थान में बीजेपी को 19 और कांग्रेस को 6 सीटें मिल रही हैं. हालांकि पिछली बार बीजेपी के खाते में सभी सीटें आई थीं. वहीं मध्य प्रदेश में बीजेपी को 23 कांग्रेस को 6 सीटें मिल रही हैं. पिछली बार बीजेपी 27 और कांग्रेस ने 2 सीटें जीती थीं. 

पंजाब में कांग्रेस ने अपनी स्थिति बहुत मजबूत कर ली है. यहां पर कांग्रेस को 11, बीजेपी-1 और आम आदमी पार्टी-1 सीट जीत रही है. हरियाणा में बीजेपी को 8 और कांग्रेस को 2 सीटें मिल रही हैं. पीएम मोदी के गृह राज्य में गुजरात में बीजेपी को 24 और कांग्रेस के खाते में 2 सीटें जाते दिखाई दे रही हैं. महाराष्ट्र में बीजेपी+शिवसेना को 35, कांग्रेस-एनसीपी को 13 सीटें मिल रही हैं. 

छत्तीसगढ़ : सर्वे में मोदी सरकार के कामकाज पर क्या है लोगों की राय, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी को कर दिया था साफ

वहीं इस बार बीजेपी के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा दो अहम राज्य हैं इस बार. इन राज्यों को बीजेपी को काफी उम्मीदें हैं. पश्चिम  बंगाल में बीजेपी को 10, टीएमसी-31 और कांग्रेस को 1 सीट मिल रही है. वहीं ओडिशा में बीजेपी-10, बीजेडी-10 और कांग्रेस को 1 सीट मिलती दिखाई दे रही है. असम में बीजेपी को 7, कांग्रेस को 4, एआईयूडीएफ को 2 और अन्य को 1 सीट मिल रही है. 

बॉलीवुड एक्टर ने कसा तंज, बोले- मायावती या ममता बनर्जी पीएम बनीं तो साधु बन जाऊंगा...

वहीं अगर दक्षिण के राज्यों में नजर डालें तो अहम राज्य केरल में बीजेपी-1, कांग्रेस+मुस्लिम गठबंधन-14, सत्ताधारी एलडीएफ-4 और अन्य के खाते में एक सीट जाती दिखाई दे रही है. तमिलनाडु में बीजेपी+एआईए़डीएके गठबंधन -10, कांग्रेस+डीएमके गठबंधन-27 और अन्य के खाते में 2 सीटें जा रही हैं.  तेलंगाना में बीजेपी के खाते में एक भी सीट नहीं जा रही है. वहीं कांग्रेस को 2, टीआरएस को 14 और अन्य के खाते में 2 सीटें जा रही हैं. आंध्र प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस का खाता खुलता नहीं दिखाई दे रहा है. वाईएसआर कांग्रेस को 21 और टीडीपी के खाते में 4 सीटें जाते दिखाई दे रही हैं.

टिप्पणियां

मोदी सरकार ने 5 साल में 50 से ज्यादा बड़े कदम उठाए: शाह​


(नोट :ओपिनियन पोल के नतीजे कई बार गलत भी साबित होते हैं)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement