Navratri 2018: नवरात्रि का चौथा दिन, मां कूष्माण्डा की पूजा करते वक्त जरूर पढ़ें ये आरती

Navratri 2018: चेहरे पर हल्की मुस्कान लिए माता कूष्माण्डा को सभी दुखों को हरने वाली मां कहा जाता है.

Navratri 2018: नवरात्रि का चौथा दिन, मां कूष्माण्डा की पूजा करते वक्त जरूर पढ़ें ये आरती

नवरात्रि के चौथे दिन पूजी जाती हैं मां कूष्माण्डा

नई दिल्ली:

Navratri 2018: नवरात्रि के चौथे दिन पूजी जाती हैं माता कूष्माण्डा. आठ भुजाओं वाली मां दुर्गा के इस रूप को लेकर मान्यता है कि इन्होंने ही संसार की रचना की. इसीलिए इन्हें आदिशक्ति के नाम से भी जाना जाता है. इन्हें शैलपुत्री (Shailputri), ब्रह्मचारिणी (Brahmacharini) और चंद्रघंटा  (Chandraghanta) के बाद पूजा जाता है. यहां जानिए माता कूष्माण्डा का रूप और खास आरती के बारे में.
 
कौन हैं मां कूष्माण्डा? 
चेहरे पर हल्की मुस्कान लिए माता कूष्माण्डा को सभी दुखों को हरने वाली मां कहा जाता है. मान्यता है कि मां कूष्माण्डा ने ही इस सृष्टि की रचना की. इनका निवास स्थान सूर्य है. इसीलिए माता कूष्माण्डा के पीछे सूर्य का तेज दर्शाया जाता है. मां दुर्गा का यह एकलौता ऐसा रूप है जिन्हें सूर्यलोक में रहने की शक्ति प्राप्त है. इनके अलावा माता कोई भी रूप सूर्यलोक में नहीं रहता.

मां दुर्गा के 9 रंग, जानिए कन्या पूजन और नवरात्रि के आखिरी पहनें कौन-सा कलर

मां कूष्माण्डा का रूप 
चेहरे पर हल्की मुस्कान और सिर पर बड़ा-सा मुकूट. आठों हाथों में अस्त और शस्त्र जिसमें सबसे पहले कमल का फूल, तीर, धनुष, कमंडल, मटकी, चक्र, गदा और जप माला. सवारी है इनकी शेर. लाल साड़ी और हरा ब्लाउज हैं इनके वस्त्र. 

कैसे करें कूष्माण्डा माता की पूजा
कूष्माण्डा माता की पूजा संतरी रंग के कपड़े पहनकर करें. 
मान्यता है कि इस दिन प्रसाद में हलवा शुभ माना जाता है.
घर में सौभाग्य लाने के लिए कूष्माण्डा माता की पूजा के बाद मेवे या फल दान करें.

Navratri Jau Pujan: नवरात्रि के दौरान क्यों बोए जाते हैं जौ, जानिए धार्मिक महत्व

Newsbeep

कूष्मांडा माता की आरती
कुष्मांडा जय जग सुखदानी
मुझ पर दया करो महारानी
पिंगला ज्वालामुखी निराली 
शाकम्बरी माँ भोली भाली 
लाखो नाम निराले तेरे 
भगत कई मतवाले तेरे 
भीमा पर्वत पर है डेरा 
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा 
संब की सुनती हो जगदम्बे 
सुख पौचाती हो माँ अम्बे 
तेरे दर्शन का मै प्यासा 
पूर्ण कर दो मेरी आशा 
माँ के मन मै ममता भारी 
क्यों ना सुनेगी अर्ज हमारी 
तेरे दर पर किया है डेरा 
दूर करो माँ संकट मेरा 
मेरे कारज पुरे कर दो 
मेरे तुम भंडारे भर दो 
तेरा दास तुझे ही ध्याये 
'भक्त' तेरे दर शीश झुकाए
 

नवरात्रि से जुड़ी बाकी खबरें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बिना करवट 21 कलश सीने पर लिए 9 दिनों तक भूखे-प्यासे लेटे हैं ये बाबा, ऐसे कर रहे हैं मां दुर्गा की आराधना

Navratri Jau Pujan: नवरात्रि के दौरान क्यों बोए जाते हैं जौ, जानिए धार्मिक महत्व
मां दुर्गा के 9 रंग, जानिए कन्या पूजन और नवरात्रि के आखिरी पहनें कौन-सा कलर
नवरात्रि के दौरान हर घर में बजती हैं मां दुर्गा की ये 7 आरतियां, YouTube पर भी देख चुकें हैं करोड़ों लोग
Navratri 2018: नवरात्रि पर मां के भक्तों को भेजें ये शानदार मैसेजेस, ऐसे कहें Happy Navratri
Navaratri 2018: कलश स्‍थापना क्‍यों और कैसे की जाती है, जानिए सामग्री और शुभ मुहूर्त भी
Navratri 2018: शारदीय नवरात्रि हुए शुरू, जानिए पूरे 9 दिनों मां दुर्गा के किन रूपों की होगी पूजा
Navratri 2018: नवरात्रि शुरू, जानिए शुभ मुहूर्त, कलश स्‍थापना की विधि, व्रत विधान और दुर्गा पूजा का महत्‍व
Happy Navratri 2018: नवरात्रि के इन 9 दिनों में ऐसा होना चाहिए आपका Facebook और Whatsapp Status
नवरात्र 2018: जहां तवायफ के कोठे की मिट्टी से तैयार होती हैं दुर्गा मां की मूर्तियां
Navratri 2018: नवरात्रि व्रत के दौरान इन 10 बातों का रखें ध्यान, जानिए नवरात्र उपवास के सभी नियम
Navratri 2018: नवरात्रि में मां दुर्गा को खिलाएं उनका मनपसंद खाना, नौ दिनों में चढ़ाएं नौ तरह का भोग
Navratri 2018: नवरात्रि के पहले दिन ऐसे करें मां शैल पुत्री की पूजा, जानिए मंत्र, कवच और स्तोत्र पाठ
Navratri 2018: मन में शांति लाता है मां दुर्गा का दूसरा रूप, जानिए ब्रह्मचारिणी के बारे में सबकुछ
Navratri 2018: नवरात्रि का तीसरा दिन, मां चंद्रघंटा की पूजा में 'घंटा' का है बेहद महत्व

सिर्फ वैष्णों देवी ही नहीं, मां दुर्गा के ये 7 मंदिर भी हैं बेहद प्रसिद्ध