NDTV Khabar

Surgical Strike 2: आतंकी कैंपों को नेस्तनाबूद करने के लिए वायुसेना ने बालाकोट ही क्यों चुना

Surgical Strike 2: पाकिस्तान में जैश के सबसे बड़े आतंकी कैंप को भारतीय वायुसेना ने नेस्तानाबूद कर दिया है और करीब 300 आतंकवादियों को मार गिराया.

768 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Surgical Strike 2: आतंकी कैंपों को नेस्तनाबूद करने के लिए वायुसेना ने बालाकोट ही क्यों चुना

Surgical Strike 2: भारतीय वायुसेना का एयर स्ट्राइक

नई दिल्ली:

भारतीय वायुसेना (Indian Air force) ने बड़ी कार्रवाई (Surgical Strike 2) को अंजाम देते हुए जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला ले लिया है. पाकिस्तान में जैश के सबसे बड़े आतंकी कैंप को भारतीय वायुसेना ने नेस्तानाबूद कर दिया है और करीब 300 आतंकवादियों को मार गिराया. भारत सरकार की ओर से विदेश सचिव विजय गोखले ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आधिकारिक तौर पर कहा है कि भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में स्थित जैश के आतंकी कैंप को ही निशाना बनाया. हालांकि, उन्होंने मुजफ्फराबाद और चकोट के कैंप पर हुए हमले का जिक्र नहीं किया. मगर सूत्रों मुताबिक, भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद, बालाकोट और चकोट में आतंकी कैंप को निशाना बनाकर ध्वस्त किया है. 

आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक के बाद रैली में बोले पीएम मोदी: 'सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा'


बताया जा रहा है कि बालाकोट की सरकार ने इसिलए हमले का केंद्र बनाया क्योंकि यह जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों का सबसे बड़ा प्रशिक्षण केंद्र था जो घने जंगलों में था और आवासीय क्षेत्रों से दूर था. प्रशिक्षण केंद्र को पक्का बनाया गया था. इतना ही नहीं, भारत के पास बालाकोटा के लेकर इंटेलिजेंस इनपुट थे, जिसके आधार पर इस हमले को अंजाम दिया गया है. बता दें कि इस हमले में भारतीय वायुसेना के 12 मिराज फाइटर जेट का इस्तेमाल किया गया. 

जब भारतीय वायुसेना कर रहा था आतंकी कैंपों को नेस्तनाबूद, उस वक्त कहां और क्या कर रहे थे पीएम मोदी

बालाकोटा को ही निशाना क्यों?

  • पाकिस्तान में जैश का सबसे बड़ा आतंकी कैंप
  • बालाकोट के कैंप को यूसुफ़ अज़हर चलाता है
  • जैश चीफ़ मसूद अज़हर का रिश्तेदार यूसुफ़ अज़हर 
  • सरकार के पास आत्मघाती हमले की पुख़्ता ख़ुफ़िया जानकारी
  • आवासीय इलाके से दूर था कैंप
  • नागरिकों को नुकसान न पहुंचे, इसका ध्यान रखकर कार्रवाई की गई.

सरकार के सूत्र ने कहा कि यह काउंटर टेरर अटैक था. जो इंटेलिजेंस इनपुट के आधार पर किया गया था. वहां फ़िदायीन तैयार किया जा रहा था. यह मिलिट्री हमला नहीं था. भारत अपनी संप्रभुता को लेकर हमने अटैक किया. 

आतंकी कैंप पर हमले के लिए एयरफोर्स ने आखिर मिराज-2000 को ही क्यों चुना?

टिप्पणियां

दरअसल, सोमवार की देर रात 3.30 बजे (मंगलवार सुबह 3.30 बजे) के करीब भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पीओके के पार जाकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला बोला. यह हमला पूरी तरह से सफल हुआ है. इस हवाई हमले में जैश के सभी आतंकी कैंप नष्ट हो गए. बताया यह भी जा रहा है कि इन कैंपों में लश्कर और हिज्बुल के भी कैंप शामिल थे.

VIDEO: भारत का जैश के आतंकी ठिकानों पर हमला, मारे गए 300 से ज्यादा आतंकी!


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement