NDTV Khabar

VIDEO: जम्मू में मतदान करने गए युवक के साथ बीएसएफ की हाथापाई से भड़कीं महबूबा मुफ्ती, कहा- बीजेपी तो किसी भी कीमत पर...

महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने अपने ट्वीट में लिखा कि जम्मू के मतदान केंद्र पर बीएसएफ के जवान ने एक युवक के साथ इसलिए हाथापाई की क्योंकि वह बीजेपी को वोट नहीं देना चाहता था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
VIDEO: जम्मू में मतदान करने गए युवक के साथ बीएसएफ की हाथापाई से भड़कीं महबूबा मुफ्ती, कहा- बीजेपी तो किसी भी कीमत पर...

महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

खास बातें

  1. महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी पर साधा निशाना
  2. जम्मू में युवक के साथ मारपीट का विरोध
  3. पहले चरण के दौरान हुई हिंसा पर भड़कीं महबूबा मुफ्ती
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्रीऔर पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने जम्मू में मतदान केंद्र पर युवक के साथ बीएसएफ जवान के साथ हुई हाथापाई पर कड़ा ऐतजार जताया है. उन्होंने (Mehbooba Mufti) इस  घटना को लेकर एक ट्वीट भी किया. महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने अपने ट्वीट में लिखा कि जम्मू के मतदान केंद्र पर बीएसएफ के जवान ने एक युवक के साथ इसलिए हाथापाई की क्योंकि वह बीजेपी को वोट नहीं देना चाहता था. बीजेपी के लिए मतदान कराने के लिए मतदान केंद्रों पर सशस्त्र बलों का इस्तेमाल यह साबित करता है कि  बीजेपी सत्ता में आने के लिए कितनी भूखी है और वह इसके लिए किसी भी तरीके का इस्तेमाल कर सकती है.


एक अन्य ट्वीट में महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने नमो फूड पैकेट की उपलब्धता पर सवाल उठाए. उन्होंने लिखा कि एक बार फिर आचारसंहिता का उल्लंघन. अगर इन पैकेट के इस्तेमाल के लिए आपको मजबूर किया जाए और कहा जाए कि आपको जिसको वोट देना हो उसे दें. यह कोई तय  नहीं कर सकता कि आप अपना वोट किसे दें. यह हर भारतीय का मौलिक अधिकार है. 

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर इस तरह का हमला किया होगा. इससे पहले महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने (Mehbooba Mufti) कहा था कि अगर ऐसा होता है तो हमें फिर से विचार करना होगा कि हमें भारत के साथ रहना भी है या नहीं. महबूबा मुफ्ती ने (Mehbooba Mufti) वित्त मंत्री अरुण जेटली पर पलटवार करते हुए कहा था कि संविधान के अनुच्छेद 370 को यदि खत्म किया गया तो भारत संघ और राज्य के बीच संबंध समाप्त हो जाएगा. महबूबा (Mehbooba Mufti) ने अपने आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि अरुण जेटली को यह समझना चाहिए. यह कहना आसान नहीं है. यदि आप (अनुच्छेद) 370 खत्म करते हैं तो जम्मू कश्मीर के साथ आपके संबंध समाप्त हो जाएंगे.

अरुण जेटली ने जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने की वकालत करते हुए कहा था कि अनुच्छेद 35ए जो जम्मू-कश्मीर में गैर-स्थायी निवासियों को संपत्ति खरीदने पर रोक लगाता है वह ‘संवैधानिक रूप से दोषपूर्ण' है और राज्य के आर्थिक विकास को बाधित कर रहा है. महबूबा ने कहा था कि अनुच्छेद 370 भारत संघ और राज्य के बीच एक सेतु है और यदि संविधान के विशेष प्रावधान को खत्म किया गया तो नई दिल्ली को जम्मू कश्मीर के साथ अपने संबंध ‘फिर से बातचीत करके तय करने होंगे'.

IAF पायलट अभिनंदन की रिहाई के ऐलान के बाद जम्मू कश्मीर की पूर्व CM महबूबा मुफ्ती ने कही यह बात

उन्होंने कहा था कि यदि आपने भारत के संविधान में हमें एक विशेष दर्जा दिया है और आप उस दर्जे को तोड़ते हैं तब हमें पुनर्विचार करना होगा कि क्या हम आपके साथ बिना शर्त रहना भी चाहते हैं या नहीं. इससे पहले नेशनल कान्फ्रेंस के नेता मोहम्मद अब्दुल्ला वानी और अवामी इंसाफ पार्टी प्रमुख गुलाम अहमद शेख सलूरा अपने समर्थकों के साथ पीडीपी में शामिल हो गए थे. महबूबा और पार्टी संरक्षक मुजफ्फर हुसैन बेग ने वानी और सलूरा का पार्टी में स्वागत किया. गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा हो. इससे पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था. 

सपा नेता का दावा: सरकार ने पाकिस्तान से की सांठगांठ, फिर खाली घर पर गिराए बम

महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने ट्वीट कर कहा था कि आज के जमाने में देशभक्ति कुर्सी बचाने के लिए जरूरी है. उन्होंने (Mehbooba Mufti) अपने ट्वीट में बॉलीवुड की एक फिल्म का वीडियो भी डाला था. जिसमें दो कलाकार आपस में यही बात कर रहे थे कि वह किस तरह से देशभक्ति के नाम पर चुनाव जीत सकते हैं.

VIDEO: महबूबा मुफ्ती ने दिया बड़ा बयान. 

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement