NDTV Khabar

पीएम मोदी, अमित शाह और राहुल गांधी पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला, चुनाव आयोग आज करेगा फैसला

सुप्रीम कोर्ट पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के भाषणों से आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कांग्रेस सांसद की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई के लिये तैयार हो गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी, अमित शाह और राहुल गांधी पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला, चुनाव आयोग आज करेगा फैसला

आचार संहिता के उल्लंघन मामले में चुनाव आयोग करेगा बैठक

खास बातें

  1. पीएम मोदी और अमित शाह पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप
  2. चुनाव आयोग ने बुधवार को बुलाई बैठक
  3. सुप्रीम कोर्ट में भी होगी सुनवाई
नई दिल्ली:

चुनाव आयोग (Election Commission) पीएम मोदी (PM Modi) , भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) द्वारा आचार संहिता के उल्लंघन के मामले को लेकर मंगलवार को बैठक करेगा. आयोग ने इसकी जानकारी मीडिया को सोमवार को दी. बता दें कि चुनाव आयोग (Election Commission) की यह बैठक कांग्रेस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर उस याचिका को ध्यान में रखकर बुलाई जा रही है जिसमें पीएम मोदी और अमित शाह पर आचार संहिता (Election Commission) के उल्लंघन का आरोप है. इस मामले की सुनवाई भी बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में होगी. सुप्रीम कोर्ट में होने वाली इस सुनवाई को लेकर चुनाव आयोग के डिप्टी कमिश्नर भूषण कुमार ने कहा कि चुनाव आयोग की बैठक सिर्फ और सिर्फ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले को लेकर है. हम सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते. 

मेनका गांधी ने 'मुसलमानों' पर दिया था बयान, चुनाव आयोग से मिली ये चेतावनी


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के भाषणों से आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कांग्रेस सांसद की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई के लिये तैयार हो गया. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने असम के सिलचर संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस की सांसद सुष्मिता देव की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी के इस कथन का संज्ञान लिया कि उनकी याचिका पर शीघ्र सुनवाई की जाये क्योंकि निर्वाचन आयोग ने मोदी और शाह के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में उनकी शिकायत पर कोई निर्णय नहीं लिया है. सुष्मिता देव अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष भी हैं.

फराह खान के वोट डालने के 2 घंटे के अंदर ही अंगुली से गायब हुई स्याही, चुनाव आयोग से पूछा- ये कैसे...

देव ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ शिकायतों पर निर्वाचन आयोग की कथित निष्क्रियता को ‘पक्षपात' का लक्षण और मनमाना बताया, जिसकी अनुमति नहीं है क्योंकि यह लोकतांत्रिक प्रक्रिया की पवित्रता के लिये नुकसानदेह है. सिंघवी ने अधिवक्ता सुनील फर्नाण्डीज के साथ पीठ के समक्ष आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं ने पिछले चार सप्ताह के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन किया है परंतु निर्वाचन आयोग ने कांग्रेस पार्टी की 40 से अधिक शिकायतों पर कोई निर्णय नहीं लिया. इस पर पीठ ने कहा कि याचिका पर मंगलवार को सुनवाई की जायेगी. इससे पहले, पीठ ने सिंघवी के कथन का संज्ञान लेते हुये उनसे पूछा कि वे भाजपा नेताओं के नाम लेने में संकोच क्यों कर रहे हैं. पीठ ने कहा कि आप साफ साफ नाम क्यों नहीं लेते हैं?

AAP उम्मीदवार आतिशी ने BJP प्रत्याशी गौतम गंभीर के खिलाफ चुनाव आयोग से की यह शिकायत

सुष्मिता देव ने आरोप लगाया है कि आम चुनाव की घोषणा होने की तारीख 10 मार्च से ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष ने विशेष रूप से संवेदनशील इलाकों और राज्यों में जनप्रतिनिधित्व कानून के प्रावधानों और चुनाव कराने के नियमों व प्रक्रिया का उल्लंघन किया है. उन्होंने आरोप लगाया है कि ये जगजाहिर है कि वे नफरत फैलाने वाले भाषण दे रहे हैं, निर्वाचन आयोग द्वारा स्पष्ट प्रतिबंध के बावजूद राजनीतिक प्रचार के लिये सशस्त्र बलों का बार बार जिक्र कर रहे हैं.

टिप्पणियां

दो वोटर आईडी रखने के आरोप पर पूर्वी दिल्ली से बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर का पलटवार

देव ने अपनी याचिका में मोदी और शाह द्वारा अपनी सभाओं में आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन की अनेक घटनाओं को सूचीबद्ध किया है और कहा कि मोदी ने एक अप्रैल को महाराष्ट्र के वर्धा में अपने भाषण में पहली बार संहिता का उल्लंघन किया था जहां उन्होंने कथित रूप से भगवा आतंकवाद का मुद्दा उठाया था. मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के केरल के वायनाड से चुनाव लड़ने का मुद्दा भी उठाया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement