NDTV Khabar

Movie Review : 'शादी में जरूर...' ज़रूरी नहीं है इस शादी में जाना

फिल्म में काफी कुछ चीजें दोहराई गई लगती हैं और ऐसा एहसास देती हैं कि हमने इस कहानी को कहीं देखा है. हालांकि रत्ना सिन्हा ने अच्छा कॉन्सेप्ट उठाया है लेकिन फिल्म बहुत ही खींची और ऊबाऊ लगने लगती हैं.

180 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Movie Review : 'शादी में जरूर...' ज़रूरी नहीं है इस शादी में जाना

'शादी में जरूर आना' का निर्देशन रत्ना सिन्हा ने किया है.

खास बातें

  1. 'शादी में जरूर आना' में नएपन की कमी
  2. डायरेक्टर रत्ना सिन्हा ने अच्छा कॉन्सेप्ट उठाया
  3. फिल्म को 2.5 रेटिंग
नई दिल्ली: राजकुमार राव पिछले कुछ समय से ऐसी फिल्में कर रहे हैं जिनमें या तो उन्हें अपनी दुल्हन को हासिल करने के लिए काफी जुगत लगानी पड़ती है या फिर उनके हाथ से दुल्हन निकल ही जाती है. जिसकी मिसाल ‘बहन होगी तेरी’ और ‘बरेली की बर्फी’ रही हैं. उनकी अधिकतर फिल्में उत्तर प्रदेश आधारित भी हो रही हैं. ऐसा ही कुछ ‘शादी में जरूर आना’ के बारे में भी है. फिल्म में काफी कुछ चीजें दोहराई गई लगती हैं और ऐसा एहसास देती हैं कि हमने इस कहानी को कहीं देखा है. हालांकि रत्ना सिन्हा ने अच्छा कॉन्सेप्ट उठाया है लेकिन फिल्म बहुत ही खींची और ऊबाऊ लगने लगती हैं.

पढ़ें: राजकुमार राव की नई फिल्‍म का ट्रेलर रिलीज, इस बार 'शादी में जरूर आना'...

फिल्म की कहानी शादी को लेकर है. कहानी राजकुमार राव और कृति खरबंदा की है. राजुकमार एक क्लर्क हैं और कृति के ख्वाब बड़े अधिकारी बनने के हैं. फिर दोनों मिलते हैं और प्यार हो जाता है. लेकिन अपने ख्वाबों को पूरा करने के लिए एक दिन वो ऐसा कदम उठाती है कि सब हैरान रह जाते हैं और राजकुमार का पूरा वजूद हिल जाता है. फिर कुछ समय बाद राजकुमार और कृति की राहें फिर मिलती हैं लेकिन वे काफी आगे निकल चुके होते हैं. डायरेक्टर ने चौंकाने वाले फैक्टर रखे हैं लेकिन कहानी बहुत धीमी चलती है. कहानी में नएपन का अभाव है, और एक तरह की फिल्में नहीं देखी जा सकती हैं.
 

एक्टिंग में राजकुमार राव उस्ताद हैं. उन्होंने यहां भी बेहतर काम किया है. लेकिन अब उन्हें इसे रटी-रटाई इमेज से बाहर आना होगा नहीं तो एक ही तरह के रोल करते हुए मजा किरकिरा हो जाएगा. थोड़ा कहानी भी फोकस करना होगा क्योंकि सिर्फ फिल्म में लीड करना ही उनका उद्देश्य नहीं रहा है. कृति खरबंदा ने भी ठीक-ठाक एक्टिंग की है. लेकिन इन दिनों फिल्मों की असली स्टार कहानी होती है. फिल्म का कॉन्सेप्ट अच्छा है लेकिन ट्रीटमेंट ढीला है.

पढ़ें: इस टीवी शो में राजकुमार राव को जाना पड़ा महंगा, टूटी टांग, पहुंचे अस्पताल

कुल मिलाकर शादी में जरूर आना टाइटल भी जस्टीफाई नहीं हो पाता है. फिल्म के गाने भी ऐसे नहीं हैं जो बांध कर रख सकें. राजकुमार राव की फिल्म होने के बावजूद इस बार यह कहना ही पड़ेगा कि मजा नहीं आया.

टिप्पणियां
रेटिंगः 2.5 स्टार
डायरेक्टरः रत्ना सिन्हा
कलाकारः राजकुमार राव, गोविंद नामदेव और कृति खरबंदा

VIDEO: फिल्म 'शादी में जरूर आना' के स्टारकास्ट से विशेष बातचीत...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement