NDTV Khabar

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करने वाला पहला भारतीय टीवी शो बना 'मैं कुछ भी कर सकती हूं'

पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया का लोकप्रिय एडूटैनमेंट शो 'मैं कुछ भी कर सकती हूं' एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पावर्ड चैटबॉट के जरिए युवा दर्शकों तक पहुंच बनाने के लिए इस्तेमाल करने वाला पहला भारतीय टेलीविजन शो है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करने वाला पहला भारतीय टीवी शो बना 'मैं कुछ भी कर सकती हूं'

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया का लोकप्रिय एडूटैनमेंट शो 'मैं कुछ भी कर सकती हूं' एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पावर्ड चैटबॉट के जरिए युवा दर्शकों तक पहुंच बनाने के लिए इस्तेमाल करने वाला पहला भारतीय टेलीविजन शो है. डॉ. स्नेहा चैटबोट उपयोगकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से यौन और प्रजनन स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों पर बातचीत करने की अनुमति देती है. पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक पूनम मुत्तरेजा कहती हैं, ''मैं कुछ भी कर सकती हूं के माध्यम से हमने हमेशा बड़े दर्शकों के सेगमेंट तक पहुंचने के नए तरीके खोजने की कोशिश की है. यद्यपि डिजिटल मीडिया के माध्यम से युवाओं तक अधिक पहुंच है, लेकिन उनमें से कई यौन और प्रजनन स्वास्थ्य के बारे में अपनी आवश्यकताओं या प्रश्नों पर चर्चा करने में सक्षम नहीं हैं. उन्हें या तो अर्धसत्य या भ्रामक सामग्री मिलती है. हमारी चैटबोट डॉ स्नेहा माथुर का डिजिटल अवतार है, जो मैं कुछ भी कर सकती हूं की मुख्य नायक हैं. यह युवाओं को अपनी चिंताओं के बारे में बात करने और एक विश्वसनीय स्रोत से सही जानकारी प्राप्त करने की अनुमति देता है."

बॉलीवुड एक्ट्रेस ने कन्हैया कुमार की जमकर तारीफ की, बोलीं- आपके पास खोने के लिए कुछ नहीं, लेकिन...


डॉ. स्नेहा चैटबोट को यूके की कंपनी एआई फॉर गुड द्वारा विकसित किया गया है, जिसका नेतृत्व कृति शर्मा कर रही हैं. कृति सतत विकास लक्ष्यों के लिए एक अग्रणी वैश्विक कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) विशेषज्ञ और संयुक्त राष्ट्र युवा नेता हैं.कृति शर्मा कहती है, "हमें सामाजिक भलाई के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करने की आवश्यकता है और डॉ स्नेहा चैटबोट के पास भारत में युवाओं के एक विस्तृत वर्ग के लिए सेवाएं देने की बहुत बड़ी क्षमता है जो ऑनलाइन हैं. यौन और प्रजनन स्वास्थ्य पर भरोसेमंद जानकारी और सेवाएं नहीं मिल पाती हैं. डिजिटल मीडिया में नए उपयोगकर्ताओं को ध्यान में रखते हुए बॉट को विकसित किया गया है, विशेषकर बातचीत डिजाइन और समृद्ध मीडिया के उपयोग में. हम गोपनीयता और गोपनीयता की आवश्यकता के प्रति भी सजग हैं, जिसके लिए हमने उच्चतम सुरक्षा मानकों का पालन किया है, जैसा कि हम युवा और कमजोर लोगों के जीवन के साथ काम कर रहे हैं."

बॉलीवुड एक्टर ने पीएम मोदी पर कसा तंज, लिखा- जब मोदीजी हिमालय चले गए थे तब भारतीय सेना लाहौर में...

शो के निर्माता, फिरोज अब्बास खान, जिन्होंने शो भी बनाया है, ने कहा, "आज के तकनीकी युग में, किसी सूचना के प्रसार के लिए एक मल्टी-मीडिया दृष्टिकोण की आवश्यकता है. मैं कुछ भी कर सकती हूं ने अपनी एआई-संचालित चैटबोट विकसित की, ताकि हम हमारे दर्शकों के बारे में हमारी समझ को बढा सके. यह भी समझ में आता है कि शो के संदेश का उपभोग कैसे किया जा रहा है. चैटबॉट भी त्वरित अन्तरक्रियाशीलता की अनुमति देता है. यह युवाओं और महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए प्रभावी बातचीत समाधान है. मुझे लगता है कि इस चैटबोट से हमें काफी मदद मिलेगी.

राहुल गांधी ने कही नीति आयोग खत्म करने की बात तो बॉलीवुड प्रोड्यूसर बोले- सैम पित्रोदा से ट्यूशन लो...

'मैं कुछ भी कर सकती हूं' एक युवा डॉक्टर डॉ. स्नेहा माथुर की प्रेरक यात्रा के आसपास घूमती है, जो मुंबई में अपने आकर्षक कैरियर को छोड़ देती है और अपने गांव में काम करने का फैसला करती है. यह शो डॉ. स्नेहा के क्रूसेड पर केंद्रित है, ताकि सभी के लिए बेहतरीन स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित की जा सके. उनके नेतृत्व में, गांव की महिलाएं सामूहिक कार्रवाई के ज़रिए अपनी आवाज़ उठाती हैं. पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया को आरईसी फाउंडेशन और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा इस लोकप्रिय शो के सीजन 3 के लिए समर्थन मिल रहा है.

टिप्पणियां

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement