NDTV Khabar

पीएम मोदी ने रॉबर्ट वाड्रा पर साधा निशाना, कहा- अगले पांच साल में नामदार जेल के अंदर होंगे...

पीएम मोदी (PM Modi) ने इशारों ही इशारों में कहा कि किसानों को लूटने वालों को ये चौकीदार कोर्ट तक ले गया है. आज वह जमानत के लिए चक्कर काट रहे हैं, ईडी के दफ्तर में जूते घिस रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. हरियाणा के फतेहबाद में पीएम ने कही यह बात
  2. कांग्रेस पर भी जमकर बरसे पीएम मोदी
  3. रॉबर्ट वाड्रा को जेल में डालने की कही बात
नई दिल्ली:

पीएम मोदी (PM Modi) ने हरियाणा के फतेहाबाद में एक जनसभा के दौरान प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के पति रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) पर निशाना साधा. पीएम मोदी (PM Modi) ने इशारों ही इशारों में कहा कि किसानों को लूटने वालों को ये चौकीदार कोर्ट तक ले गया है. आज वह जमानत के लिए चक्कर काट रहे हैं, ईडी के दफ्तर में जूते घिस रहे हैं. ये लोग पहले मानते थे कि हम शहंशाह हैं. मैं ऐसे लोगों को जेल के दरवाजे तक ले गया हूं, आने वाले पांच साल में इन्हें अंदर तक कर दूंगा. जनसभा के दौरान पीएम मोदी (PM Modi) ने कांग्रेस पर भी हमला किया. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि भारत माता की जय बोलने पर ऐतराज जताने वाली कांग्रेस अब देशद्रोह का कानून हटाने की भी बात कह रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस कह रही है कि अगर दिल्ली में उसकी सरकार बनी तो, जम्मू-कश्मीर समेत जो हिंसा वाले इलाके हैं, वहां तैनात सैनिकों से, उनका विशेष अधिकार छीन लिया जाएगा. यानि जो पत्थरबाज है, जो आतंकवाद के समर्थक हैं, उनको खुली छूट देने का सार्वजनिक रूप से बोल रही है.


पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने आपसे वादा किया था कि वो वन रैंक वन पेंशन लागू करेगी.ये वादा करते-करते उसने चार दशक निकाल दिए.जब आपने दबाव बनाया तो 2013-14 में चुनाव के पहले सिर्फ 500 करोड़ रखकर, कांग्रेस ने झूठ बोला कि वन रैंक वन पेंशन लागू कर दी है. ये आपसे कितना बड़ा धोखा था.

पीएम मोदी ने जनसभा के दौरान कहा कि भाजपा की सरकार जवान और किसान के सम्मान के लिए समर्पित है.किसानों के हक के लिए आवाज़ उठाने वाले, भारत की कृषि नीति पर अपनी छाप छोड़ने वाले ‘सर छोटूराम' जी की भव्य प्रतिमा का अनावरण करने का सौभाग्य मुझे कुछ महीने पहले ही मिला था.

साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस को न तो जवानो के सम्मान की फिक्र कभी रही है और न ही किसानो के सम्मान की. इन्होंने तो किसानों की जमीन पर भी भ्रष्टाचार की खेती ही की है.हरियाणा और दिल्ली में जब कांग्रेस की सरकार थी, तब कैसे कौड़ियो के भाव पर किसानो की जमीन हथियाने का खेल खेला गया, आप सभी जानते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि एक तरफ किसानों के हितों के लिए जहां हम पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस ने झूठ और धोखे की नीति अपना रखी है.कर्जमाफी के नाम पर उसने राजस्थान में, मध्य प्रदेश में किसानों को कैसे छला है, अब इसकी चर्चा हर तरफ हो रही है.

राहुल का हमला: 'मुक्केबाज' मोदी ने 'कोच' आडवाणी पर ही मुक्के बरसा दिए, बेरोजगारी से मुकाबले में रहे नाकाम 

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला हो. इससे पहले झारखंड के चाईबासा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों को चुनौती दी थी कि यदि उनमें दम है तो शेष बचे दो चरण के चुनाव अपने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) के मान-सम्मान और बोफोर्स (Bofors) के मुद्दे पर लड़ लें. इससे पता चल जायेगा कि 'किसके बाजुओं में कितना दम है.'

यह भी पढ़ें: PM मोदी के 'भ्रष्टाचारी नंबर-1' वाले बयान के बाद अब BJP की सहयोगी पार्टी बोली- राजीव गांधी ‘भारत के सबसे बड़े मॉब लिंचर' थे

झारखंड में सिंहभूम और जमशेदपुर लोकसभा सीटों (Lok Sabha Election 2019) के लिए चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि, 'कांग्रेस को चुनौती देता हूं, नामदार परिवार के रागदरबारियों और चेले चपाटों को चुनौती देता हूं कि आज का चरण तो पूरा हो गया है, लेकिन अभी दो चरणों का चुनाव शेष है. आपके पूर्व प्रधानमंत्री जिनके लिए आप मोटे-मोटे आंसू बहा रहे हैं, उनके मान-सम्मान पर ही अंतिम दो चरणों का चुनाव लड़ लें.' पीएम मोदी ने कांग्रेस और उसके सहयोगियों को ललकारते हुए कहा था कि आप में हिम्मत है तो आखिरी दो चरणों के चुनाव और दिल्ली का भी चुनाव, बोफोर्स के मुद्दे पर लड़ लें.'

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड एक्ट्रेस ने राहुल गांधी को ट्वीट से दिया जवाब, बोलीं- आपके पिता राजीव गांधी एक...

उन्होंने कहा था कि नामदार परिवार प्रधानमंत्री के पद की मार्यादा भी भूल गया और देश के प्रधानमंत्री को लगातार गाली देता रहा, लेकिन जैसे ही हाल में एक सभा में मैंने बोफोर्स के भ्रष्टाचार की याद दिलाई, जैसे तूफान आ गया. मैंने तो सिर्फ एक शब्द ही बोला था, लेकिन मानो इनको तो बिच्छू काट गया.' उन्होंने कहा था कि देश के नौजवानों को भी पता चलना चाहिए कि कैसे 20वीं सदी में एक परिवार ने देश को लूटा और बर्बाद किया. उन्होंने कहा था कि आइये उस समय के प्रधानमंत्री (राजीव गांधी) के मान सम्मान के मुद्दे पर ही शेष चुनाव लड़ते हैं. दम हो तो मैदान में आइये.'' 

यह भी पढ़ें: राजीव गांधी सरकार की ईमानदारी पर सवाल उठाने से राहुल इतने परेशान क्यों : जेटली

मोदी ने दो टूक कहा, 'यह लोकतंत्र है, आप अपनी बात रखिये और हम अपनी बात रखेंगे. जनता जनार्दन फैसला करेगी.' उन्होंने कहा था कि मैं देखता हूं कि ये मिलावटी लोग और कांग्रेस मेरी चुनौती को स्वीकार करते हैं कि नहीं?' प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर अपने शासन के पचपन वर्षों में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा था कि वह इस भ्रष्टाचार की जकड़न को तोड़ने में काफी हद तक सफल हुए हैं, लेकिन वह यह दावा नहीं कर सकते कि इस जकड़न को उन्होंने पूरी तरह समाप्त कर दिया है. मोदी ने दो टूक कहा कि उनकी पांच वर्षों की सरकार के दामन पर भ्रष्टाचार का एक भी दाम नहीं गा है और विपक्ष इसी से तिलमिलाया है और उनकी सरकार के खिलाफ ऊलजुलूल आरोप लगाने की कोशिश कर रहा है.

यह भी पढ़ें: मोदी को ट्वीट कर राहुल गांधी ने सिखाया स्‍टेट्समैनशिप का पाठ...

टिप्पणियां

उन्होंने कहा था कि झारखंड में भी भाजपा के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार का गठन हुआ और आज यहां विकास की बयार बह रही है. जिस राज्य को मधु कोड़ा के भ्रष्टाचार और कोयला घोटाले के लिए जाना जाता था अब वहीं विकास और खेलों की बात होती है. उन्होंने कांग्रेस पर भ्रष्ट पार्टियों और नेताओं का साथ देने का आरोप लगाया और कहा था कि कांग्रेस ने यहां चार हजार करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी मधु कोड़ा के परिवार वालों (गीता कोड़ा) को अपनी पार्टी में न सिर्फ शामिल किया, बल्कि उन्हें टिकट भी दे दिया.

VIDEO: पीएम मोदी ने राहुल के बहाने राजीव गांधी पर साधा निशाना​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement