Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

2018 का सबसे पसंदीदा राजनेता कौन...?

देश की राजनीति में 2018 को कांग्रेस की वापसी के लिए ज़्यादा याद रखा जाएगा. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कांग्रेस मुक्‍त भारत के अभियान को कांग्रेस ने मध्‍यप्रदेश, राजस्‍थान और छत्तीसगढ़ में रोक दिया.

2018 का सबसे पसंदीदा राजनेता कौन...?

देश की राजनीति में 2018 को कांग्रेस की वापसी के लिए ज़्यादा याद रखा जाएगा. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विजय अभियान को जहां राजस्‍थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट की जुगलबंदी ने रोका, वहीं मध्‍यप्रदेश में कमलनाथ और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहान को सत्ता से बेदखल कर दिया. छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस की शानदार वापसी हुई. उधर तेलंगाना में के. चंद्रशेखर राव (KCR) ने कांग्रेस और BJP दोनों को दूर ही रखा. दूसरी बार सत्‍ता हासिल करने वाले KCR हाल ही में पश्‍चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी से मिलकर केंद्र की राजनीति में एक नए समीकरण का संकेत दे गए. बिहार की राजनीति में भी काफी हलचल रही. NDA का एक विकेट कांग्रेस और RJD की जोड़ी ने चटका दिया, और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी RLSP को महागठबंधन में शामिल कर लिया. मौका देखकर रामविलास पासवान के पुत्र और लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) संसदीय दल के नेता चिराग पासवान ने एक बयान देकर NDA को सकते में डाल दिया. बिहार में बिखरते NDA को संभालने की जिम्‍मेदारी केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली को दी गई और LJP ने इसका जमकर फायदा उठाया. पार्टी को बिहार में लड़ने के लिए छह सीट मिल गईं. रामविलास पासवान ने इस बहाने अपने लिए राज्‍यसभा की सीट भी सुरक्षित कर ली.

उधर, तेजप्रताप यादव का एक और रूप लोगों के सामने आया, वहीं तेजस्‍वी यादव पूरे साल बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को घेरते रहे. योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव और मायावती की जोड़ी राजनीति को अपने तरीके से संचालित करती नजर आई. इस बीच पूरे साल त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब भी अपने अनूठे बयानों के चलते चर्चा में बने रहे. राजनीति के इस घमासान में कुछ चेहरे ऐसे आए, जो लोगों के ज़ेहन में बस गए. किसी ने अपनी राजनीति से लोगों को चकित किया, तो किसी ने अपने काम से. आपकी नजर में ऐसे कौन-से राजनेता हैं, जो वर्ष 2018 में बेहतरीन रहे. नीचे कुछ ऑप्‍शन दिए गए हैं - उनमें से चुनें या अपनी पसंद फीडबैक में भी भेज सकते हैं.

जो यूज़र अपने मोबाइल से अपनी पसंद के नेता का चयन नहीं कर पा रहे हैं, उनके लिए बता दें कि इस पोल में विकल्प के रूप में नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, सचिन पायलट, के. चंद्रशेखर राव, ज्योतिरादित्य सिंधिया, शिवराज सिंह चौहान, तेजप्रताप यादव, तेजस्वी यादव, बिप्लब देब, असदुद्दीन ओवैसी तथा योगी आदित्यनाथ हैं. आप अपनी पसंद हमें कमेंट के रूप में भी भेज सकते हैं.